किसान सम्मान निधि लिस्ट 2022: pmkisan.gov.in List, PM Kisan Status

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि लिस्ट ऑनलाइन देखे, Kisan Samman Nidhi List चेक करे और PM Kisan Status खोजे, pmkisan.gov.in Ekyc लाभार्थी सूची, किसान सम्मान निधि की अगली किश्त आने वाली है

केंद्र सरकार द्वारा किसानों को प्रति वर्ष ₹6000 की आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाती है। जिससे कि किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार किया जा सके। यह आर्थिक सहायता सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत प्रदान की जाती है। वह सभी किसान जिनका नाम किसान सम्मान निधि लिस्ट में उपस्थित होता है उनको यह आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। किसान सम्मान निधि लिस्ट 2022 को pmkisaan.gov.in पर देखा जा सकता है। इस लेख के माध्यम से आपको किसान सम्मान निधि सूची देखने की प्रक्रिया से अवगत कराया जाएगा। इसके अलावा आपको किसान सम्मान निधि स्कीम से संबंधित अन्य जानकारी भी प्रदान की जाएगी। तो आइए जानते हैं कैसे Kisan Samman Nidhi List देखी जाए एवं इस योजना का लाभ प्राप्त किया जाए।

Table of Contents

Kisan Samman Nidhi 12th Installment

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं अब तक किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 11 किस्ते जारी की जा चुकी हैं। जिसके माध्यम से किसानों को वित्तीय सहायता प्राप्त हुई है। 11वीं किस्त की राशि सरकार द्वारा 31 May 2022 को किसानों के खाते में वितरित की गई। जिसके माध्यम से 10 crore किसानों को लाभ पहुंचा। जल्द किसानों को सरकार द्वारा पीएम किसान 12वीं किस्त की राशि प्रदान की जाएगी। यह राशि July 2022 से August 2022 के बीच किसानों के खाते में जमा की जाएगी। 12वीं किस्त की प्राप्ति करने के लिए किसानों को September 2022 से पहले पहले अपना e-KYC करवाना होगा। वह सभी किसान जो अपना e-KYC नहीं करवाएंगे उनको इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।

PM Kisan 11वीं किस्त की राशि की गई जारी

किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा अब तक 10 किस्तों की राशि किसानों के खाते में वितरित की जा चुकी है। 31 May 2022 को इस योजना के अंतर्गत 11वीं किस्त की राशि भी किसानों के खाते में वितरित कर दी गई है। इस किस्त के अंतर्गत लगभग 10 crore किसानों को 21000 crore रुपए प्रदान किए गए हैं। यह राशि किसानों के खाते में mega event के दौरान वितरित की गई। इस event में प्रधानमंत्री जी ने 16 योजनाओं के लाभार्थियों से बात की। यह mega event शिमला के ridge मैदान में आयोजित किया गया था। 11वीं किस्त की राशि प्राप्त करने के लिए लाभार्थियों को अपना e-KYC compliance करना अनिवार्य है। e-KYC compliance पूर्ण करने की अंतिम तिथि 31 May 2022 है। लाभार्थी द्वारा OTP based e-KYC किया जा सकता है। इसके अलावा CSC केंद्र के माध्यम से भी e-KYC किया जा सकता है।

Kisan Samman Nidhi List

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं Kisan Samman Nidhi List के अंतर्गत अब तक सरकार द्वारा 9 किस्ते जारी की जा चुकी है। 10वीं किस्त की राशि केंद्र सरकार द्वारा 1 जनवरी 2022 को किसानों के खाते में वितरित की गई। इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदान की गई है। 10.09 करोड़ किसानों को नववर्ष के तोहफे के रुप में ये राशि ट्रांसफर की गई। जल्द बाकी किसानों को भी किसान सम्मान निधि 10वीं किस्त की राशि पहुंचाई जाएगी। 10.09 करोड़ किसानों को कुल 20946 करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर की गई। इस मौके पर प्रधानमंत्री जी ने देश भर के कई किसान उत्पादक संगठनों से भी बातचीत की। इन सभी संगठनों से भविष्य में निवेश के लिए सरकार की ओर से कुल 14 करोड़ रुपया की इक्विटी ग्रांड दिया गया। जिससे करीब 1.25 लाख किसानों को लाभ मिलेगा।

Overview Of Kisan Samman Nidhi Yojana List 2022

योजना का नामKisan Samman Nidhi List
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के छोटे और सीमांत किसान
उद्देश्यकिसानो को आर्थिक सहायता प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://www.pmkisan.gov.in/
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार की योजना
लाभरुपए 6000 की आर्थिक सहायता
आरंभ तिथि1-12-2018
पांचवी क़िस्त हेतु सम्मिलित की गयी लाभार्थियों की संख्या8.69 करोड़
छठी क़िस्त आरम्भ तिथि10 April 2020
सातवीं क़िस्त आरम्भ तिथि25 December 2020
आठवीं क़िस्त जारी करने की तिथि14 May 2021
नौवीं क़िस्त जारी करने की तिथि9 Augest 2021
दसवीं क़िस्त जारी करने की तिथि1 January 2022
माह अप्रैल 2020 में जारी की गयी धनराशि7,384 करोड़
पीएम किसान सम्मान पंजीकरण फॉर्मयहां क्लिक करें
पीएम किसान सम्मान लाभार्थी स्थितियहां क्लिक करें
लाभार्थी सूची की जाँच करेंयहां क्लिक करें
किसान सम्मान निधि योजना आवेदन पत्रयहां क्लिक करें

उत्तर प्रदेश में 2.55 Crore किसानों के Bank Account में वितरित की गई राशि

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं UP सरकार द्वारा 26 May 2022 को budget की घोषणा की गई है। यह घोषणा Finance Minister सुरेश खन्ना के द्वारा विधानसभा में की गई है। सरकार द्वारा 6 lakh 15 thousand 518 crore का budget इस वर्ष प्रस्तावित किया गया है। Budget में स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर किसानों के लिए कई विशेष प्रावधान किए गए हैं। Budget की घोषणा के दौरान वित्त मंत्री द्वारा यह जानकारी प्रदान की गई की प्रदेश में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 2.55 crore किसानों के Bank Account में DBT माध्यम से 42 हजार 565 crore रुपए transfer किया गए। सरकार द्वारा इस योजना को वर्ष 2018 में launch किया गया था। इस योजना के माध्यम से किसानों को ₹6000 की प्रति वर्ष आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

11.3 करोड़ किसानों के खाते में ट्रांसफर किए गए 1.82 लाख करोड़ रुपए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा Kisan Samman Nidhi List से संबंधित ट्वीट किया गया है। इस ट्वीट के माध्यम से किसानों के लिए चल रही विभिन्न योजनाओं से संबंधित जानकारी प्रदान की गई है। किसानों के खाते में जल्द 11वीं किस्त की राशि ट्रांसफर की जाएगी। यदि पात्र किसानों ने अभी तक इस योजना के अंतर्गत अपना रजिस्ट्रेशन नहीं करवाए हैं तो वह जल्द से जल्द अपना रजिस्ट्रेशन करवा ले और योजना का लाभ प्राप्त करें। सरकार द्वारा 11.3 करोड़ किसानों के खाते में 1.82 लाख करोड रुपए ट्रांसफर किए गए हैं। कोरॉना महामारी के दौरान किसानों के खाते में 1.30 लाख करोड़ रुपए इस योजना के अंतर्गत ट्रांसफर किए गए हैं।

इस ट्वीट के माध्यम से प्रधानमंत्री जी के द्वारा यह भी जानकारी प्रदान की गई थी कृषि संबंधी आधारभूत ढांचे के विकास के लिए सरकार द्वारा एक लाख करोड़ रुपए का ऋण सुविधा प्रदान की गई है। इसके अलावा 11632 प्रोजेक्टों के लिए 8585 करोड़ रुपए के ऋण को मंजूरी प्रदान की गई है। सरकार द्वारा देश भर की मंडियों का डिजिटल एकीकरण किया गया है एवं 1.73 करोड़ किसानों का पंजीकरण और इनाम प्लेटफार्म पर एक करोड़ का व्यापार किया गया है।

पीएम किसान सम्मान निधि सुधार

Kisan Samman Nidhi List 11वीं किस्त

अब तक सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 10 किस्ते जारी की जा चुकी हैं। 11वीं किस्त की राशि अप्रैल 2022 के पहले सप्ताह में लाभार्थी किसानों के खाते में हस्तांतरित की जाएगी। अप्रैल के पहले सप्ताह से पहले सभी लाभार्थी किसानों से अनुरोध है की वह अपना PM Kisan Status Check करते रहें एवं जानकारी प्राप्त करते रहें। कई बार किसानों की किस्त की राशि अटक जाती है। यह राशि डॉक्यूमेंट में किसी प्रकार की कमी जैसे कि आधार नंबर, अकाउंट नंबर और बैंक खाता नंबर में कुछ गलती होना आदि होने के कारण अटक जाती है। यदि आप समय से अपना स्टेटस चेक करते रहेंगे तो आप कोई भी समस्या आने से पहले ही उसका निराकरण कर लेंगे।

E-KYC कराने की Last Date में की गई वृद्धि

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक 11 किसने किसानों के खाते में जमा की जा चुकी हैं। लगभग 10 crore किसानों के खाते में 11वीं किस्त की राशि जमा की गई है। सरकार द्वारा लगभग 21000 crore रुपए 11वीं किस्त के अंतर्गत प्रदान किए गए हैं। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए E-KYC करवाना अनिवार्य है। सरकार द्वारा E-KYC करवाने की last date में वृद्धि कर दी गई है। पहले E-KYC करवाने की अंतिम तिथि 31 May 2022 थी। जिसे अब बढ़ाकर 31 July 2022 कर दिया गया है। यदि किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो उनको जल्द से जल्द अपना E-KYC करवाना होगा। किसान E-KYC खुद या फिर CSC केंद्र के माध्यम से भी करवा सकते हैं।

किसान सम्मान निधि eKYC ऑनलाइन 2022

हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा Kisan Samman Nidhi List के अंतर्गत आने वाले सभी लाभार्थियों को 10 वी किश्त का लाभ प्राप्त करने के लिए सर्वप्रथम eKYC करना आवश्यक कर दिया है यदि आप भी एक पात्र किसान है और किसान सम्मान निधि योजना योजना के लिए eKYC करना चाहते है तो आपको दी गयी प्रक्रिया का पालन करना होगा

  • सर्वप्रथम आप किसान सम्मान निधि लिस्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • आधिकारिक वेबसाइट पर आपको फार्मर कॉर्नर में ईकेवाईसी नामक (eKYC) विकल्प दिखाई देगा
  • इस विकल्प पर क्लिक करें और एक नया वेब पेज खोलें
  • इसके बाद मांगी गई जानकारी (Aadhar Card Number) आधार कार्ड का नंबर भरकर Search Option पर क्लिक करें
  • इसके पश्चात आपके सामने Beneficiary Data खुल कर आएगा
  • अब मांगी गई सभी जानकारियों को सही सही प्रकार भरकर सबमिट बटन पर क्लिक कर दें
  • इस प्रकार से आपका किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत केवाईसी पूर्ण हो जाएगी

किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किए गए बदलाव

स्टेटस चेक करने का विकल्प

किसानों के लिए इस योजना के अंतर्गत अपना रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात स्टेटस खुद चेक करने की सुविधा उपलब्ध है। इस सुविधा के अंतर्गत किसानों द्वारा आवेदन की स्थिति, बैंक अकाउंट में कितनी किस्त आ चुकी है आदि से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। किसानों द्वारा पोर्टल पर जाकर अपना आधार नंबर, मोबाइल या बैंक खाता दर्ज करके स्टेटस से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। सरकार द्वारा इस संबंध में कुछ बदलाव किए गए हैं। अब किसान मोबाइल नंबर के माध्यम से अपना स्टेटस नहीं चेक कर सकेंगे। किसानों को अपना आधार नंबर या बैंक अकाउंट नंबर दर्ज करना होगा तभी किसान अपना स्टेटस देख सकेंगे।

ई केवाईसी अनिवार्य

सरकार द्वारा सभी रजिस्टर्ड किसानों के लिए ईकेवाईसी अनिवार्य कर दिया गया है। ई केवाईसी करने के लिए किसानों द्वारा पोर्टल पर उपलब्ध किसान कॉर्नर के विकल्प पर क्लिक करके। इसके पश्चात उनको ई केवाईसी के विकल्प पर क्लिक करना होगा। जिसके माध्यम से किसान का आधारित ओटीपी प्रमाणीकरण हो सकेगा। बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण करवाने के लिए निकटतम सीएससी केंद्र से संपर्क किया जा सकता है। ईकेवाईसी को घर बैठे मोबाइल, लैपटॉप और कंप्यूटर की मदद से पूरा किया जा सकता है।

जोत की सीमा को किया गया समाप्त

शुरुआत में केवल उन्हीं किसानों को पात्र माना गया था जिनके पास कृषि योग्य खेती जमीन 2 हेक्टेयर या 5 एकड़ थी। सरकार द्वारा अब इस बधता को खत्म कर दिया गया है। जिसके कारण वश इस योजना का लाभ 14.5 करोड़ किसानों को प्राप्त हो रहा है।

आधार कार्ड को किया गया अनिवार्य

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है। बिना आधार कार्ड के इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त किया जा सकता।

खुद कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

इस योजना के अंतर्गत किसान अपना पंजीकरण खुद भी कर सकते हैं। यह सुविधा सरकार द्वारा इस उद्देश्य से उपलब्ध करवाई गई है कि इस योजना का लाभ अधिक से अधिक किसानों तक पहुंचे। अब किसानों को लेखपाल, कानूनागाे और कृषि अधिकारियों के पास जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

केसीसी और मानधन योजना का लाभ

सभी किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी किसानों को केसीसी एवं मानधन योजना का भी लाभ प्रदान किया जाएगा। केसीसी के माध्यम से 4% पर ₹300000 तक का किसानों को ऋण प्रदान किया जाता है। इसके अलावा मानधन योजना के अंतर्गत अंशदान करने का विकल्प भी पीएम किसान स्कीम से प्राप्त हुए राशि से चुना जा सकता है।

किसान सम्मान निधि योजना 9वी किस्त

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक सरकार द्वारा 8 किश्ते प्रदान की जा चुकी है। जिनके माध्यम से ₹2000- ₹2000 रुपए की राशि किसानों के खाते में हस्तांतरित की गई है। इस योजना के माध्यम से प्रत्येक किसान को एक वर्ष में कुल ₹6000 की राशि प्रदान की जाती है। जो कि ₹2000 रुपए की तीन किस्तों में 4 महीने के अंतराल पर प्रदान की जाती है। हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इस योजना की 9वी किस्त की राशि 9 अगस्त 2021 को जारी कर दी गई है।

जिसके माध्यम से किसानों के खाते में ₹2000 रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजे गए हैं। 9वी किस्त के माध्यम से 9.75 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचा है एवं सरकार द्वारा ₹19500 करोड़ रुपया की राशि 9वी किस्त प्रदान करने के लिए खर्च की गई है। अब तक इस योजना के संचालन के लिए 1.38 लाख करोड़ रुपए से अधिक की राशि खर्च की जा चुकी है।

PM Kisan Status– 8th Installment

Kisan Samman Nidhi Yojana सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक योजना है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक सहायता की जाती है। यह आर्थिक सहायता (तीन किस्तों में रुपए 2000 देकर) किसानों को किस्तों में प्रदान की जाती है। अब तक सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 8 किस्त जारी की जा चुकी है। 8वीं किस्त की राशि सरकार द्वारा किसानों के खाते में 14 मई 2021 को जारी की गई है। 8वी किस्त के अंतर्गत लगभग 9,50,67,601 करोड किसानों के खाते में 20,667,75,66,000 हज़ार करोड़ रुपए ट्रांसफर किये गए है। किसान सम्मान निधि योजना 8वीं किस्त की जानकारी आप हमारे द्वारा बताई गयी प्रक्रिया द्वारा जाँच सकते है|

12 करोड़ किसानों को पहुंचा किसान सम्मान निधि का लाभ

Kisan Samman Nidhi List के अंतर्गत अब तक 12 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचाया जा चुका है। एवं इन 12 करोड़ किसानों में से 2.5 करोड़ किसान उत्तर प्रदेश के हैं। इस बात की जानकारी भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मनोहर सिंह द्वारा साझा की गई है। उनके द्वारा मथुरा के दीन दयाल पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय में आयोजित किसान सम्मान समारोह में किसानों को संबोधित भी किया गया। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि इस योजना के संचालन के लिए अब तक 1.60 लाख करोड रुपए खर्च किए जा चुके हैं. इस समारोह में उन्होंने मथुरा के 71 किसानों को भी सम्मानित किया। उत्तर प्रदेश में गन्ना उत्पादक किसानों को को 1.43 लाख करोड़ रुपए का भुगतान भी किया गया है।

कुल 135000 करोड़ रुपए की राशि अब तक की गई खर्च

किसान सम्मान निधि योजना को 1 दिसंबर 2018 को आरंभ किया गया था। जिसके माध्यम से प्रतिवर्ष किसानों को ₹6000 की आर्थिक सहायता तीन रिश्तो में प्रदान की जाती है। अब तक इस योजना के माध्यम से 135000 करोड़ की राशि खर्च की जा चुकी है। जिससे 11 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचा है। जिसमें से 60000 करोड़ रुपए की राशि कोरोनाकाल में किसानों के खाते में हस्तांतरित की गई है। छोटे और सीमांत किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से इस योजना को डिजिटल इंडिया इनीशिएटिव के अंतर्गत आरंभ किया गया था। लगभग 12 करोड किसानों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है।

वह सभी किसान जिनको 8वीं किस्त की राशि प्राप्त हुई है उन्हें अलग से 9वी किस्त की राशि प्राप्त करने के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। उनके खाते में खुद ही किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 9वी किस्त की राशि सरकार द्वारा पहुंचा दी जाएगी।

अपात्र होने की स्थिति में की जाएगी प्रदान कि गई राशि की वसूली

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं किसान सम्मान निधि लिस्ट के माध्यम से किसानों को प्रति वर्ष ₹6000 रुपए प्रदान किए जाते हैं। यह राशि किसानों को ₹2000 रुपए की तीन किस्तों में प्रदान की जाती है। सरकार द्वारा पिछली कुछ किस्तों से यह देखा गया है कि कई ऐसे किसान है जो किसान सम्मान निधि लिस्ट के पात्र नहीं है या फिर फर्जी है लेकिन इसके बावजूद भी वह इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। ऐसे सभी किसानों को इस योजना का लाभ आने वाले समय में नहीं प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सरकार द्वारा सभी किसानों की जांच की जाएगी।

  • कई राज्यों में काफी बड़ी संख्या में भी ऐसे किसान निकले हैं जिनको किसान सम्मान निधि योजना का लाभ तो प्राप्त हो रहा है लेकिन वह इस योजना के पात्र नहीं है।
  • ऐसे सभी किसानों के लिए केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकार को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपात्र किसानों से इस योजना के अंतर्गत प्रदान किए गए पैसों की वसूली करें और यह सुनिश्चित करें कि आने वाले समय में किसी भी अपात्र किसान को इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाए।

फील्ड वेरिफिकेशन के माध्यम से की जाएगी अपात्र किसानों की जांच

अपात्र किसानों को किसान सम्मान निधि लिस्ट का लाभ ना पहुंचे यह सुनिश्चित करने के लिए फील्ड वेरिफिकेशन किया जाएगा। जिससे कि केवल वही किसान इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे जो इस योजना के पात्र हैं। वह सभी जानकारी जो किसान अपने आवेदन के साथ अटैच करता है उसका अब फिजिकल वेरिफिकेशन किया जाएगा। फिजिकल वेरिफिकेशन के दौरान किसान की राजस्व में भूमि रिकॉर्ड, टैक्स पेयर ना होने के संबंधित जांच की पुष्टि आदि की जाएगी। जिसके पश्चात यह तय किया जाएगा कि किसान को आगे इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा या नहीं। यदि जांच के दौरान यह पाया जाता है कि आप किसान सम्मान निधि योजना के पात्र नहीं है तो आपके खाते में अब तक जमा की गई राशि की वसूली की कार्रवाई की जाएगी।

पिछली किस्त के दौरान 33 लाख ऐसे किसान पाए गए थे जो इस योजना के पात्र नही थे। केंद्र सरकार द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि इस योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को पहुंचाया जाए जिनका नाम से खेत खसरा है।

Kisan Samman Nidhi List 7वी किस्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किस्त की राशि भेजने की घोषणा की गई थी। यह राशि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी की जन्म दिवस के दिन किसानों के खाते में भेजी गई हैं। 25 दिसंबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का आयोजन किया गया। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने किसानों से बात की। उन्होंने बताया कि देश के 9 करोड़ किसानों के खाते में 18000 करोड रुपए से ज़्यादा रकम भेजी गई है। यह राशि एक सिंगल क्लिक के माध्यम किसानों के बैंक अकाउंट से पहुंचाई गई है। अब तक इस योजना के अंतर्गत 1 लाख 10 हजार करोड रुपए से ज्यादा किसानों के खाते में पहुंचाए गए हैं।

  • उन्होंने यह भी बताया कि यह राशि किसानों के बैंक में पहुंचाने के लिए कोई कमीशन नहीं लिया गया है। ना ही कोई कट किया गया है तथा कोई हेरा फेरी भी नहीं की गई है। टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके यह राशि किसानों के अकाउंट में पहुंचाई गई है।
  • उन्होंने यह भी बताया कि यह राशि किसानों का राज्य सरकार द्वारा पंजीकरण होने के बाद तथा उनके बैंक खातों का वेरिफिकेशन होने के बाद उनके बैंक में पहुंचाई जाती है।
  • प्रधानमंत्री जी द्वारा यह भी बताया गया कि देश भर की सभी राज्य सरकारें किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट से जुड़ी हुई है। लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार ने इस योजना को पश्चिम बंगाल में लागू नहीं किया है। वहां के किसानों को इस योजना का लाभ नहीं पहुंच रहा है। पश्चिम बंगाल के 7000000 किसान इस योजना से वंचित है।
  • इस योजना के अंतर्गत पश्चिम बंगाल के 2300000 किसानों ने आवेदन किया था लेकिन राज्य सरकार ने वेरीफिकेशन प्रोसेस रोक दिया है।

किसान सम्मान निधि लिस्ट का उद्देश्य

सम्मान निधि योजना को देश के किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के किसानों को प्रति वर्ष ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जो कि ₹2000 की तीन किस्तों में प्रदान की जाती है। इस योजना के माध्यम से देश के किसान आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेंगे। किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से उचित फसल स्वास्थ्य एवं उचित फसल की पैदावार सुनिश्चित की जा सकेगी। इसी के साथ किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा एवं उनको बेहतर आजीविका प्राप्त होगी।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट बजट की घोषणा

सरकार द्वारा सन 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। 1 फरवरी 2021 को हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा यूनियन बजट की घोषणा की गई है। वित्त मंत्री द्वारा यह घोषणा की गई है कि इस बजट के माध्यम से सन 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। यूनियन बजट 2021 के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों के हित में कई सारी घोषणाएं की गई हैं। कृषि कल्याण मंत्रालय को वित्त वर्ष 2021 के लिए 1,31,531 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। यह बजट पिछली बार से 5.63% अधिक है। आवंटित राशि का आधा हिस्सा प्राधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना पर खर्च किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत 65000 करोड का बजट निर्धारित किया गया है। इसी के साथ एग्री इंफ्रा फंड, सिंचाई कार्यक्रम, कृषि रिसर्च आदि के लिए भी सरकार द्वारा फंड उपलब्ध करवाया जाएगा। सरकार द्वारा एग्रीकल्चर क्रेडिट टारगेट को भी 16.5 लाख करोड़ करने की घोषणा की गई है।

किसान सम्मान निधि योजना के कुछ नए दिशा निर्देश

अब तक किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 7 किस्ते सरकार द्वारा किसानों को प्रदान की जा चुकी है। 8वीं किस्त मई के अंत तक इस योजना के लाभार्थियों को प्रदान की जाएगी। ऐसे सभी किसान जो इस योजना के पात्र नहीं है उन्हें इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुआ पैसा वापस करना होगा। अपात्र किसान आगे से इस योजना का लाभ न उठा पाए इसलिए सरकार द्वारा कुछ नए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं जोगी कुछ इस प्रकार है।

  • म्यूटेशन हुआ जरूरी: किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पारदर्शिता लाने के लिए सरकार ने म्यूटेशन को जरूरी कर दिया है। अब इस योजना का लाभ किसान तभी उठा सकेगा जब उनके पास कृषि भूमि स्वयं के नाम पर आवंटित हो। वह सभी किसान जो अपने दादा परदादा की जमीन में एलपीसी के आधार पर किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठा रहे थे उन्हें योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए म्यूटेशन अनिवार्य कर दिया गया है। इन नए नियमों का प्रभाव पुराने लाभार्थियों पर नहीं पड़ेगा।
  • प्लॉट नंबर देना भी हुआ अनिवार्य : किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने के लिए अब प्लॉट नंबर होना भी अनिवार्य कर दिया गया है। हमारे देश में कई सारे किसान ऐसे हैं जिनकी संयुक्त भूमि है और जो खातियानी जमीन के आधार पर इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। इन सभी किसानों को अपने हिस्से की जमीन अपने नाम पर करानी होगी। तभी वह इस योजना का लाभ उठा पाएंगे। वह सभी किसान जो किसान सम्मान निधि योजना के लिए नया रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं उन्हें आवेदन फॉर्म में अपना प्लॉट नंबर भी लिखना होगा।

लाभार्थी की सूची की वैधता

लाभार्थियों की सूची केंद्र सरकार को राज्य सरकारों एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान की जाएगी। ऐसे में सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों की यह जिम्मेदारी होगी कि वह किसानों की पात्रता का सत्यापन कर ले। राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान किए गए लाभार्थियों की सूची 1 वर्ष के लिए मान्य होगी। 1 वर्ष के बाद राज्य द्वारा दोबारा सभी पात्र किसानों की सूची प्रदान की जाएगी। हालांकि राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि पोर्टल पर उन किसानों के नाम अपलोड किए जा सकते हैं जिनकी पहचान बाद में की गई हो। सभी राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को समय-समय पर पात्र किसानों के नाम पोर्टल पर अपडेट करने होंगे।

किसान सम्मान निधि योजना कार्यान्वयन

  • राज्य सरकार द्वारा सभी पात्र किसानों का डाटाबेस तैयार किया जाएगा।
  • सभी पात्र किसानों की पहचान करने की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी।
  • राज्य सरकार द्वारा पात्र लाभार्थियों से एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भरवाया जाएगा जिसमें एक अंडरटेकिंग भी होगी।
  • इस अंडरटेकिंग में लाभार्थी द्वारा पात्रता के सत्यापन के लिए आधार संख्या के उपयोग करने की सहमति ली जाएगी।
  • राज्य में उपलब्ध भूमि स्वामित्व प्रणाली का उपयोग लाभार्थी की पहचान करने के लिए किया जाएगा।
  • सभी राज्यों का भूमि रिकॉर्ड स्पष्ट होना चाहिए।
  • सभी पात्र लाभार्थियों की सूची ग्राम स्तर पर प्रकाशित की जाएगी।
  • इसके अलावा सभी किसान परिवार जो पात्र है लेकिन उन्हें योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जा रहा है उन्हें अपने मामले का प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्रदान किया जाएगा।
  • राज्यों द्वारा पात्र किसानों की सूची पीएम किसान पोर्टल पर अपलोड की जाएगी।

किसानों के खाते में ऐसे किए जाते हैं पैसे ट्रांसफर

किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक सहायता की जाती है। यह आर्थिक सहायता केंद्र सरकार द्वारा किसानों को तभी प्रदान की जाती है जब राज्य सरकार किसानों का सत्यापन कर दें। यह सत्यापन किसानों के रेवेन्यू रिकॉर्ड, आधार नंबर और बैंक खाते को सही पाकर किया जाता है। इस योजना का लाभ किसान तब तक नहीं उठा सकते जब तक राज्य सरकार द्वारा उन्हें सत्यापित ना कर दिया जाए। जब राज्य सरकार किसानों का सत्यापन कर देती है तब राज्य सरकार की ओर से एक फंड ट्रांसफर आर्डर जारी किया जाता है। इसके बाद केंद्र सरकार किसानों के अकाउंट में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से पैसे भेजती है।

किसान सम्मान निधि छठी किस्त चेक स्टेटस ऑनलाइन लिस्ट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार हर साल किसानों को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान करती है। जो कि केंद्र सरकार दो हजार रूपए की तीन किश्तों में प्रदान करती है। यह आर्थिक सहायता केंद्र सरकार द्वारा 4 महीने के अंतराल पर प्रदान की जाती है। हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा आज दिनांक 9 अगस्त 2020 को सुबह 11:00 बजे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की छठी किस्त सभी लाभार्थी किसानों के खाते में भेजी जा चुकी है|

पीएम किसान छठी किस्त के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 17000 करोड रुपए की धनराशि 8.5 करोड़ किसानों के बैंक खातों में भेजी गयी है| पीएम किसान छठी किश्त की धनराशि को केंद्र सरकार द्वारा डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर(डीबीटी) के माध्यम से ट्रांसफर की गयी है यदि आपने पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन किया है तो आपके बैंक अकाउंट में यह छठी किश्त की राशि आपके संबंधित खाते में आ गई होगी |

किसान सम्मान निधि योजना अपात्र किसान

  • वह किसान जो संवैधानिक पद पर तैनात हैं।
  • जिला पंचायत सदस्य।
  • पार्षद।
  • विधायक।
  • पूर्व या वर्तमान सांसद।
  • राज्य या केंद्र सरकार के कर्मचारी।
  • पेंशनभोगी।
  • आय कर देने वाले किसान।

पीएम किसान पहचान पत्र लाभार्थी

किसान पहचान पत्र के लिए सबसे पहले पीएम-किसान योजना के तहत रजिस्टर्ड करीब 10 करोड़ किसानों को कवर किया जायेगा । इसमें काश्तकार, कृषि श्रमिक, बटाईदार, पट्टेदार, मुर्गीपालक, पशुपालक, मछुआरे, मधुमक्खी पालक, माली, चरवाहे आते हैं। रेशम के कीड़ों का पालन करने वाले, वर्मीकल्चर तथा कृषि-वानिकी जैसे विभिन्न कृषि-संबंधी व्यवसायों से जुड़े व्यक्ति भी किसान हैं। इन्हे भी शामिल किया जायेगा ।केंद्र सरकार के पास प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि के तहत करीब 10 करोड़ किसान परिवारों का आधार, बैंक अकाउंट नंबर और उनके रेवेन्यू रिकॉर्ड की जानकारी एकत्र हो चुकी है. इस डेटाबेस को मिलाकर यदि पहचान पत्र बनाने की कल्पना यदि साकार होती है तो किसानों का काम काफी आसान हो जाएगा |

Kisan Samman Nidhi List 2022

इस योजना के तहत केंद्र सरकार की तरफ से देश के छोटे और सीमांत किसानो को सालाना 6000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी । सरकार की तरफ से किसानो को दी जाने वाली 6000 रूपये की धनराशि तीन समान किश्तों में प्रदान की जाएगी । 2019 के बजट में किसान सम्मान योजना के लिये 75,000 करोड़ रूपये का बजट दिया गया था। लेकिन कम संख्या में किसानों का वेरिफिकेशन हुआ इस लिए इस वर्ष बजट 2020 में कृषि मंत्रालय ने Kisan Samman Nidhi List के तहत किसानों को पैसे देने के लिए केवल 60,000 करोड़ रूपये का ही बजट माँगा है। PM Kisan Samman Nidhi Yojana के अंतर्गत 12 करोड़ छोटे तथा सीमांत किसानो को शामिल किया जायेगा | योजना के तहत लगभग 9.5 करोड़ किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है इसमें से करीब 7.5 करोड़ किसानों का आधार के जरिए सत्यापन हो चुका है।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट की कुछ मुख्य बातें

  • किसानों के लिए चलाई गई यह योजना शत-प्रतिशत सरकार के द्वारा वित्त पोषित है |
  • यह योजना किसानों के लिए 01 दिसंबर 2018 से कार्य कर रही है |
  • इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक किसानों को सरकार द्वारा तीन किस्तों में रुपए 6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है यानी हर 4 माह बाद किसानों के खाते में सरकार द्वारा ₹2000 डाले जाते हैं |
  • योजना के अंतर्गत लाभार्थियों का चयन सरकार तथा केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है |
  • किसानों के खाते में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के माध्यम से यह धनराशि दी जाती है |
  • योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने से पहले प्रत्येक किसान को सरकार द्वारा नामित स्थानीय पटवारी / राजस्व अधिकारी / नोडल अधिकारी (पीएम-किसान) से संपर्क करना होगा।
  • कॉमन सर्विस सेंटर को फीस के भुगतान पर योजना के लिए किसानों का पंजीकरण करने के लिए अधिकृत किया गया है।
  • पोर्टल में किसान कॉर्नर के माध्यम से किसान अपना स्व-पंजीकरण भी कर सकते हैं।
  • पोर्टल में किसान कॉर्नर के माध्यम से किसान अपने आधार डेटाबेस / कार्ड के अनुसार अपना नाम पीएम-किसान डेटाबेस में भी संपादित कर सकते हैं।
  • प्रत्येक किसान पीएम किसान पोर्टल के माध्यम से अपने भुगतान की स्थिति को जान सकता है |

Kisan Samman Nidhi List 2022 के लाभ

  • देश के इच्छुक लाभार्थी इस Kisan Samman Nidhi List में अपना नाम देखना चाहते है
  • तो उन्हें कही जाने की आवश्यकता नहीं है । अब किसान घर बैठे आसानी से ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आसानी से लिस्ट में अपना नाम देख सकते है ।
  • इस सूची में जिन किसानो का नाम आएगा उन्हें 6000 रुपए की सहायता 3 बराबर किस्तों में प्रदान करवाई जाएगी।
  • सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी ।
  • इस योजना के ज़रिये खेती करने वाले किसानो को बेहतर आजीविका प्रदान करना तथा किसानो को आत्म निर्भर बनाना तथा सशक्त बनाना ।
  • इस पोर्टल पर की पीएम किसान सम्मान निधि योजना नई सूची के अंतर्गत ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र के लाभार्थियों के नाम जारी किये गए है ।
  • ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र की सूची में शामिल होने वाले लाभार्थियों को अगले 5 साल तक 6000 रूपये दिए जायेगे |

पीएम किसान सम्मान निधि योजना स्थानांतरित धनराशि आंकड़े

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक 11.47 लाख लाभार्थियों के खाते में सीधे लाभ की राशि पहुंचाई गई है।

Dec- Mar 2020-219,17,35,253
Aug- Nov 2020-2110,20,98,704
Apr-July 2020-202110,47,60,423
Dec-Mar 2019-208,94,52,175
Aug-Nov 2019-208,75,72,395
Apr-July 2019-206,63,16,797
Dec-Mar 2018-193,16,01,225

Kisan Samman Nidhi List की पात्रता

  • इस स्कीम में सरकारी नौकरियां करने वाले जनप्रतिनिधि, इनकम टैक्स के दायरे में आने वाले लोग शामिल नहीं है। लेकिन कुछ ऐसे लोग भी हैं जो अपनी खेती योग्य जमीन पर खेती भले नहीं करते हो लेकिन उन्हें भी इस स्कीम का फायदा मिल सकता है।
  • चतुर्थ श्रेणी या कर्मचारी या मल्टी टास्किंग स्टाफ के तौर पर जुड़े लोग इसके तहत खुद को रजिस्टर करा सकते हैं।
  • अगर किसी ने खेती योग्य भूमि का इस्तेमाल किसी और चीज में किया तो उसे इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा।
  • जो किसान अपनी खेती योग्य भूमि पर खेती ना करता हो उसे बंजर छोड़ दिया जाता है तब भी इस स्कीम का लाभ उसे नहीं मिलेगा। हालांकि यह स्कीम खेती करने वाले भूमि या गांव में हो या शहर में हो दोनों को मिलेगी दोनों को इसका फायदा होगा ।
  • अगर किसी लाभार्थी किसान की मृत्यु हो जाती है तो उसकी जमीन परिवार वालों के नाम पर ट्रांसफर होती है, तो उन्हें यह लाभ मिल सकेगा अगर वह जमीन किसी और को बेच दी जाती है तो संबंधित व्यक्ति को ही स्कीम का लाभ मिलेगा जिसके नाम पर जमीन होगी।

पीएम किसान योजना के तहत अपात्र श्रेणियाँ

  • संवैधानिक पदों के पूर्व और वर्तमान धारक
  • पूर्व और वर्तमान मंत्रियों / राज्य मंत्रियों और लोक सभा / राज्यसभा / राज्य विधान सभाओं / राज्य विधान परिषदों के पूर्व / वर्तमान सदस्य, नगर निगमों के पूर्व और वर्तमान महापौर, जिला पंचायतों के पूर्व और वर्तमान महापौर।
  • केंद्र / राज्य सरकार के मंत्रालयों / कार्यालयों / विभागों और इसकी फील्ड इकाइयों के सभी सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी केंद्रीय या राज्य सार्वजनिक उपक्रम और संलग्न कार्यालय / स्वायत्त संस्थान और सरकार के अधीन स्थानीय निकाय के नियमित कर्मचारी
  • सभी सुपरनैचुरेटेड / रिटायर्ड पेंशनर्स जिनकी मासिक पेंशन रु। 10,000 / – अधिक है
  • अंतिम मूल्यांकन वर्ष में आयकर का भुगतान करने वाले सभी व्यक्ति
  • डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट, और आर्किटेक्ट जैसे पेशेवर पेशेवर निकायों के साथ पंजीकृत होते हैं और अभ्यास करते हैं।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना रिजेक्टेड लिस्ट

देश के जिन किसानो के आवेदन फॉर्म में गड़बड़ी हुई है और आवेदन फॉर्म में गलती होने की वजह से उनके आवेदन रिजेक्ट कर दिए गए है। इरिजेक्टेड आवेदन की सूची को ऑनलाइन जारी कर दिया है। जिन लोगो का नाम लाभार्थी सूची में नहीं आया और वह अपना नाम देखना चाहते है तो वह रिजेक्टेड लिस्ट की जांच कर सकते है। जिन किसानो नाम इस स्थगित सूची के अंतर्गत आएगा उन्हें दोबारा से इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन सही सही आवेदन करना होगा। उसके बाद लाभार्थी सूची के अंतर्गत आपने नाम की जांच करनी होगी। उसके बाद ही वह इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

आवेदन रिजेक्ट होने के कारण

  • जैसे की आप सभी लोग जानते है इस योजना के अंतर्गत अब तक 8 करोड़ से भी अधिक किसानो को लाभ पहुंचाया जा चूका है। केंद्र का उद्देश्य है देश के हर गरीब किसानो को इस योजना का लाभ मिले। जिन किसानो के नाम इस योजना के तहत रिजेक्ट कर दिए गए है वह इस योजना का लाभ दोबारा उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और सरकार द्वारा किसानो को 5 साल तक दिया जाने वाला 6000 रूपये का लाभ उठा सकते है। इस योजना के अंतर्गत किसानो के द्वारा किये गए आवेदन रिजेक्ट होने के कई कारण है जैसेकिसान की आयु 18 वर्ष से कम होना।
  • खसरा खतौनी में कुछ गलत जानकारी देना
  • किसान के द्वारा बैंक अकाउंट नंबर गलत दर्ज करना या आईएफएससी कोड गलत भर देना।
  • आवेदन फॉर्म भरते समय किसी तरह की त्रुटि करना।
  • किसान के खाते वैद्य या बंद होना।
  • आपने बैंक का नाम तो दर्ज कर दिया है लेकिन आपने आईएफएससी कोड किसी और बैंक का दर्ज कर दिया हैं।

Kisan Samman Nidhi List ऑनलाइन देखे- PM Kisan Status

देश के जो इच्छुक लाभार्थी Kisan Samman Nidhi List में अपना नाम देखना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे ।

  • सर्वप्रथम लाभार्थी को कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की Official Website पर जाना होगा । ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको Farmer Corner का विकल्प दिखाई देगा । आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा । इस ऑप्शन में आपको Beneficiary List का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा ।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके समाने आगे का पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको कुछ जानकरी जैसे स्टेट ,डिस्ट्रिक्ट, सब डिस्ट्रिक्ट ब्लॉक, विलेज आदि का चयन करना होगा ।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Get Report के बटन पर क्लिक करना होगा । बटन पर क्लिक करने के बाद आपके समाने अगला पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको beneficiary List खुल जायेगा ।
  • अब आप इस लिस्ट में आप अपना नाम देख सकते है ।

Kisan Samman Nidhi List Beneficiary Status Or Payment

राज्य के जो लोग Beneficiary Status देखना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीको को फॉलो करे |

  • सबसे पहले आवेदन को Kisan Samman Nidhi List की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा । ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको Farmer Corner का ऑप्शन दिखाई देगा । आपको इस ऑप्शन में से Beneficiary status का विकल्प दिखाई देगा । आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको Beneficiary Status देखना चाहते है तो आप आधार नंबर ,मोबाइल नंबर , अकाउंट नंबर में से किसी की भी सहायता से देख सकते है ।
  • आपको इसमें से किसी एक पर क्लिक करे और फिर Go Data पर क्लिक कर दे । इसके बाद आपके सामने बेनिफिशरी स्टेटस खुल जायेगा ।

रिफंड करने की प्रक्रिया

  • अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको कैटेगरी का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको नेक्स्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको पेमेंट डीटेल्स दर्ज करनी होंगी।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप रिफंड कर सकेंगे।

गांव के किसानों को जानकारी देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको Kisan Samman Nidhi List की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डैशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • स्टेट
    • डिस्ट्रिक्ट
    • सब डिस्ट्रिक्ट
    • विलेज
  • इसके पश्चात आपको शो के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने विलेज डैशबोर्ड खुलकर आ जाएगा।
  • इस डैशबोर्ड के माध्यम से आप विलेज स्टेटस, पेमेंट स्टेटस, आधार ऑथेंटिकेशन स्टेटस तथा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन स्टेटस देख सकते हैं।
  • आप अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प को चुन सकते है।
  • इसके बाद आपके सामने सभी किसानों की सूची खुलकर आ जाएगी।

PM Kisan Self Registered/CSC Farmer Online Check

  • सबसे पहले आपको योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा । ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको Farmers Corner के ऑप्शन में से Status of Self Registered/CSC Farmers के विकल्प पर क्लिक करना होगा । ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा ।
  • आपको अपना आधार नंबर, इमेज कोड, कैप्चा कोड आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Search के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • इसके बाद आपको नीचे पीएम किसान सम्मान निधि योजना की वर्तमान स्थिति दिखाई देगी ।

पेंडिंग फॉर अप्रूवल एट स्टेट डिस्टिक लेवल चेक करने की प्रक्रिया

किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से किसानों को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। अब तक इस योजना के अंतर्गत 9 किसते प्रदान की जा चुकी है। देशभर में 14 करोड़ किसानों को इस योजना का लाभ प्राप्त हो रहा है लेकिन कई सारे किसान ऐसे हैं जिनको आवेदन करने के पश्चात भी इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त हो रहा है। आवेदन स्थिति जांचने पर पेंडिंग फॉर अप्रूवल एट स्टेट डिस्ट्रिक्ट लेवल का मैसेज आता है। यह समस्या कई किसानों के साथ आ रही है। इस समस्या को बहुत आसानी से ठीक किया जा सकता है एवं किसान सम्मान निधि लिस्ट का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। यदि आपको इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त हो रहा है तो आप निम्नलिखित प्रक्रिया के माध्यम से अपने आवेदन की स्थिति चेक कर सकते हैं।

  • सर्वप्रथम आपको Kisan Samman Nidhi List की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको स्टेटस ऑफ सेल्फ रजिस्टर्ड/सीएससी फार्मर के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपना आधार नंबर तथा इमेज टेक्स्ट दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सर्च केविकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको आवेदन की स्थिति (राज्य/जिला स्तर पर अनुमोदन के लिए लंबित) खुलकर आएगी।
  • इस प्रकार आप आवेदन की स्थिति देख सकेंगे।

राज्य/जिला स्तर पर अनुमोदन के लिए लंबित स्थिति को सही करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको नजदीकी तहसील या फिर ब्लॉक में जाना होगा।
  • केंद्र सरकार द्वारा प्रत्येक कार्यालय में एक नोडल अधिकारी तैनात किया गया है। यह नोडल अधिकारी योजना से जुड़ी सभी समस्याओं का समाधान करेगा।
  • आपको अपने सभी दस्तावेज जैसे की फोटो, बैंक पासबुक, जमीन से जुड़े दस्तावेज, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर आदि लेकर नोडल अधिकारी के पास जाना होगा।
  • अब आपको यह सभी दस्तावेज नोडल अधिकारी के पास जमा करने होंगे।
  • नोडल अधिकारी द्वारा आपके दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन होने के पश्चात आपके आवेदन की प्रक्रिया आरंभ कर दी जाएगी।
  • आवेदन के 30 से 45 दिन के भीतर ही आपको लाभ की राशि प्रदान कर दी जाएगी।

Kisan Samman Nidhi List की वैधता

राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश सरकारों के द्वारा प्रदान की गई पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों की लाभार्थी सूची को 1 साल के लिए मान्य किया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश सरकारों को उन सभी लाभार्थियों की सूची अपडेट करने की सुविधा प्रदान की गई है जिनकी पहचान बाद में हुई है। सरकार द्वारा राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश सरकारों को एक तंत्र लागू करने के लिए कहा गया है जिसके अंतर्गत लैंड रिकॉर्ड में परिवर्तन होने के कारण लाभार्थियों की विवरण का अपडेशन किया जाएगा। यह अपडेशन सभी किसानों की सूची अपलोड करने के बाद भी किया जा सकता है।

Kisan Samman Nidhi List अपात्र किसानों से ली जाएगी लाख की राशि वापस

किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देश के सभी पात्र किसान उठा रहे हैं। लेकिन इन किसानों में कुछ किसान ऐसे हैं जो आयकर भरते हैं और इस योजना के पात्र नहीं है। वह सभी आयकर भरने वाले किसान जो इस योजना के पात्र नहीं हैं उन्हें किसान सम्मान निधि योजना की राशि वापस करनी होगी। सरकार द्वारा यह जानकारी सभी किसानों तक पहुंचाई जा रही है। यदि कोई इस योजना की राशि वापस नहीं करता है तो उनके ऊपर विभाग द्वारा कार्रवाई की जाएगी। वह सभी किसान जो राशि वापस करना चाहते हैं उन्हें पासबुक एवं आधार कार्ड लेकर कार्यालय में आने को निर्देश दिए गए हैं।

PM Kisan Yojana के अंतर्गत प्राप्त की गई राशि को ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से वापस किया जा सकता है। सरकार द्वारा सभी अपात्र किसानों की रिकवरी लिस्ट आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दी गई है। वह सभी किसान जो इस योजना के अंतर्गत पात्र नहीं थे तब भी उन्होंने इस योजना का लाभ उठाया है उन्हें लाभ की राशि वापस करनी अनिवार्य है।

किसान सम्मान योजना 20 लाख अपात्र किसानों को करना होगा रिफंड

किसान सम्मान निधि योजना का लाभ सभी पात्र किसानों को प्रदान किया गया है। लेकिन इसी के साथ कुछ ऐसे किसान भी हैं जो इस योजना के पात्र नहीं है लेकिन फिर भी उन्होंने किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाया है। लगभग 20 लाख से ज्यादा ऐसे किसान हैं जिन्होंने इस योजना का लाभ अपात्र होने की स्थिति में भी उठाया है। इन 20.48 लाख अयोग्य किसानों को 1,364 करोड़ रुपए का भुगतान किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किया गया है। वह सभी किसान जिन्होंने अपात्र होने की स्तिथि में भी इस योजना का लाभ उठाया उन्हें किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत प्राप्त हुई राशि वापस करनी होगी।

  • आपको जिस अकाउंट में Kisan Samman Nidhi List के पैसे आए हैं आपको उस बैंक में जाकर इस बात की जानकारी देनी होगी और बैंक आपके अकाउंट से पैसे काट लेगी। यदि आपके बैंक अकाउंट में पैसे नहीं है तब भी आप को इस राशि का भुगतान अपने बैंक अकाउंट में पैसे जमा करके करना होगा। इसके अलावा ऑनलाइन माध्यम से भरत कोष की वेबसाइट के मध्यम से भी किसान सम्मान निधि योजना के पैसे वापस किए जा सकते हैं।
  • भारतकोश की वेबसाइट पर जाकर आपको क्विक पेमेंट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। जिसमें आपको मिनिस्ट्री/ डिपार्टमेंट में एग्रीकल्चर का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आप पेमेंट के स्टेप फॉलो करके पैसे वापस कर सकते हैं।

Kisan Samman Nidhi List के अंतर्गत पैसे रिफंड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको किसान भारतकोश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Quick Payment के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको मिनिस्ट्री तथा पर बस का चयन करना होगा।
  • मिनिस्ट्री में आपको एग्रीकल्चर का चयन करना होगा और परपस में पीएम किसान रिफंड (PM Kisan Samman Nidhi Refund) का चयन करना होगा।
  • अब आपको नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें पूछी गई जानकारी आपको दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको जितने पैसे वापस करने हैं उसका अमाउंट दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको नेक्स्ट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपना आधार नंबर, मोबाइल नंबर, पैन नंबर, इमेल आईडी आदि दर्ज करके नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब यदि आप नेक्स्ट पर क्लिक करते हैं तो आपकी सभी जानकारी सेव हो जाएगी। आप एक बार आप बैंक पर क्लिक करके देख लें कि आपके द्वारा एंटर की गई सभी जानकारी ठीक है या नहीं।
  • यदि आपके द्वारा दर्ज की गई सभी जानकारी ठीक है तो आपको नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको कंफर्म के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना बैंक तथा जिस बैंक से सरकार द्वारा किस्त भेजी गई थी उसका चयन करना होगा।
  • अब आपको अपना पेमेंट मेथड का चयन करना होगा।
  • कैप्चा कोड दर्ज करना होगा
  • नीचे दिए गए घोषणा पत्र पर टिक करना होगा और पे के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपना क्रेडिट कार्ड नंबर, सीवीवी नंबर आदि दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको पे नाउ बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप रिफंड कर पाएंगे।

किसान सम्मान निधि योजना रिकवरी

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 11 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। परंतु कई सारे किसान इनमें ऐसे हैं जो इस योजना के पात्र नहीं है फिर भी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। सरकार द्वारा उन सभी किसानों से जो किसान सम्मान निधि योजना के पात्र नहीं है लाभ की राशि की रिकवरी की जाएगी। सरकार द्वारा रिकवरी प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। आधिकारिक वेबसाइट पर पीएम किसान सम्मान निधि योजना रिकवरी लिस्ट जारी कर दी है। वह सभी किसान जिन्होंने इस योजना के अंतर्गत अपात्र होने की स्थिति में भी लाभ प्राप्त किया है उन्हें किस्त की राशि वापस करनी होगी।

आधार विफलता रिकार्ड्स को सम्पादित कैसे करे ?

देश के किसान आधार विफलता रिकार्ड्स को सम्पादित करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे।

  • सर्वप्रथम आवेदक को पीएम किसान को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको आधार विफलता रिकार्ड्स को सम्पादित करे का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • होम पेज पर आपको एडिट आधार फेलियर रिकॉर्ड के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको कैटेगरी का चयन करना होगा।
  • कैटेगरी कुछ इस प्रकार है।
    • आधार नंबर
    • अकाउंट नंबर
    • मोबाइल नंबर
    • फार्मर नेम
  • इसके पश्चात आपको पूछी गई जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने आपका फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • आप इस फॉर्म में जो भी संशोधन करना चाहते हैं वह संशोधन आप कर सकते हैं।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप आधार फेलियर रिकॉर्ड संशोधित कर पाएंगे।

किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को मिलेगा किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ

इस योजना के माध्यम से किसानों को ऋण की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है। जिससे कि किसान अपनी जरूरतों को समय रहते पूरा कर सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने के लिए किसानों को किसी भी प्रकार की सिक्योरिटी जमा करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को भारी ब्याज का भुगतान करने से बचाना है।

  • अब किसान क्रेडिट कार्ड योजना को Kisan Samman Nidhi List से जोड़ दिया गया है। वह सभी किसान जो इस योजना के लाभार्थी हैं उनको किसान क्रेडिट कार्ड के लिए केवाईसी पूरा करने की भी आवश्यकता नहीं है।
  • उनको सिर्फ किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर एक फॉर्म भरना होगा। जिसके उपरांत उनको किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान कर दिया जाएगा।
  • किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी हैं तो आप भी किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ बहुत सरलता से प्राप्त कर सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड फॉर्म डाउनलोड कैसे करे ?

  • सबसे पहले लाभार्थियों को पीएम किसान की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको किसानो के लिए के सेक्शन में आपको केसीसी फॉर्म डाउनलोड करे का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।।
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जायेगा इस पेज पर आपको go to pmkisan की ऑप्शन पर क्लिक करना होगा फिर आपके सामने पीएम किसान की पहली वाली वेबसाइट खुलकर आ जाएगी।
  • यहाँ पर आपको PM Kisan Beneficiaries With Kisan Credit card का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। और फिर आपके सामने किसने क्रेडिट कार्ड के आवेदन फॉर्म की पीडीएफ खुल जायेगा। इसके बाद आपको KCC आवेदन फॉर्म पीडीएफ को डाउनलोड करना होगा।
  • सभी जानकारी को भरना होगा और फॉर्म आवेदन फॉर्म को अपने नज़दीकी बैंक में जाकर जमा करना होगा।
  • आपके फॉर्म का सत्यापन होने के बाद आपको किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान किया जायेगा।

मोबाइल ऍप के ज़रिये किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट कैसे चेक करे ?

इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो को आसान तरीके से लाभ पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार एक मोबाइल ऍप शुरू किया है इस मोबाइल ऍप के माध्यम से देश के किसान भाई अब योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये बिना ही इस योजना के बारे में अधिकांश जानकारी जैसे लाभार्थी की स्थिति, पंजीकरण की स्थिति, हेल्पलाइन नं प्राप्त कर सकते है । उम्मीदवार नीचे दिए गए चरणों के माध्यम से सूची और भुगतान की स्थिति की जांच कर सकते हैं। नीचे दिए गए तरीके का पालन करके मोबाइल ऍप को डाउनलोड कर सकते है ।

  • सर्वप्रथम लाभार्थी अपने एनरोइड मोबाइल पर प्ले स्टोर पर जाना होगा ।
  • प्ले स्टोर पर जाने के बाद आपको सर्च बार में PMKISAN GoI एप्लीकेशन को डाउनलोड करना होगा ।
  • एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के बाद एप्लीकेशन को ओपन करे । ओपन के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
  • आपको ऐप पर उपलब्ध सभी सेवाएं दिखाई देंगी । जैसे Check Beneficiary Status, Edit Aadhaar Details , Self Registered Farmer Status , New Farmer registration , About the scheme, PM -Kisan Helpline आदि ।
  • आप लोग इनमे से किसी की भी जानकारी प्राप्त कर सकते है ।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना FTO Generated क्या होता है

किसान सम्मान निधि योजना की सातवी किस्त की राशि जल्द किसानों के बैंक अकाउंट में पहुंचा दी जाएगी। दोस्तो जब आप किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत लाभार्थी सूची में अपना नाम चेक करते हैं तो आपको कई बार FTO इज जेनरेटेड एंड पेमेंट कंफर्मेशन इज पेंडिंग लिखकर आता है। यदि आप ने हाल ही में अपनी लाभार्थी सूची चेक करी है और उस पर FTO जेनरेटेड लिखकर आ रहा है तो आप घबराएं नहीं FTO का मतलब है फंड ट्रांसफर आर्डर। तो दोस्तो यदि लाभार्थी सूची में FTO इस जेनरेटेड लिखकर आ रहा है तो राज्य सरकार ने आपके द्वारा प्रदान की गई सभी जानकारी जैसे कि आधार नंबर, बैंक खाता संख्या, आईएफएससी कोड आदि की शुद्धता सुनिश्चित कर ली गई है और किश्त की राशि तैयार है और जल्द आपके खाते में भेज दी जाएगी।

RFT साइंड बाय स्टेट का मतलब

जब आप Kisan Samman Nidhi List की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना पेमेंट स्टेटस चेक करते हैं तो आपको आरएफटी साइंड बाय स्टेट लिखकर दिखाई देता है। इसका मतलब है रिक्वेस्ट फॉर ट्रांसफर। इसका मतलब होता है कि राज्य सरकार ने लाभार्थी के सभी डाटा की जांच कर ली है और लाभार्थी द्वारा प्रदान किया गया सभी डेटा ठीक पाया गया है। इसके बाद राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार से लाभार्थी के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की किस्त भेजी जाने का अनुरोध किया जाता है।

किसान रथ मोबाइल ऍप कैसे डाउनलोड करे ?

  • अपने मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाना होगा | गूगल प्ले स्टोर पर जाने के बाद आपको सर्च बार में Kisan Rath को सर्च करना होगा |
  • इसके बाद आपको Kisan Rath App को डाउनलोड करना होगा |
  • आपको बता दे कि गूगल प्ले स्टोर पर इस तरह की अन्य एप भी हैं पर आपको NIC eGov द्वारा बनाई गई ऐप को ही इन्स्टाल करना है जो केंद्र सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा बनाई गई है।
  • इस तरह आप किसान रथ ऍप को आसानी से डाउनलोड कर सकते है |

pmkisan.gov.in Login

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर लॉगिन का ऑप्शन दिया गया है

  • सबसे पहले आपको Kisan Samman Nidhi List ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा | Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
  • इस होम पेज पर आपको आपको login का विकल्प दिखाई देगा | आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा | विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा |
  • इस पेज पर आपको अपने User ID और Paasword , Image Code आदि भरना होगा | सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा | इस तरह आपका लॉगिन हो जायेगा |

स्व-पंजीकरण का अपडेशन कैसे करे ?

  • देश के जो इच्छुक लाभार्थी स्व-पंजीकरण का अपडेशन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे |
  • सबसे पहले आपको Kisan Samman Nidhi List की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा | ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम खुल जायेगा |
  • आपको Farmer Corner के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा इस ऑप्शन में से आपको Updation of Self Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा | इस पेज पर आपको पूछी गयी जानकारी जैसे आधार नंबर ,कैप्चा कोड इमेज कोड आदि भरना होगा |
  • आपको Search के बटन पर क्लिक करना होगा | इस तरह लाभार्थी स्व-पंजीकरण का अपडेशन कर सकते है |

लाभ के हस्तांतरण के तरीके

  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष ₹6000 वित्तीय सहायता लाभार्थी किसान को पहुंचाई जाएगी।
  • राशि 3 किस्तों में प्रदान की जाएगी जो कि 4 महीने के अंतराल पर मिलेगी।
  • पहली किस्त अप्रैल से जुलाई के बीच दी जाएगी दूसरी किस्त अगस्त से नवंबर के बीच दी जाएगी तथा तीसरी किस दिसंबर से मार्च के बीच दी जाएगी।
  • का कार्यान्वयन आधार लिंक इलेक्ट्रॉनिक डाटा के माध्यम से किया जाएगा जिसके अंतर्गत सभी परिवार के लोगों की जानकारी होगी जो लैंड रिकॉर्ड के अंतर्गत आते हैं।
  • योजना का लाभ उठाने के लिए आधार नंबर प्रदान करना अनिवार्य है। आधार नंबर के बिना इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।
  • असम, मेघालय तथा जम्मू एंड कश्मीर के लिए आधार नंबर अनिवार्य नहीं है। क्योंकि वहां के कई सारे नागरिकों का आधार कार्ड नहीं बना हुआ है। इन तीन राज्यों के नागरिकों को 31 मार्च 2021 तक आधार नंबर देना अनिवार्य नहीं है।
  • सभी राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेशों के द्वारा लाभार्थी किसानों की सूची प्रमाणित तथा अपलोड की जाएगी और इस सूची के माध्यम से लाभार्थियों की खाता संख्या तथा आईएफएससी कोड के आधार पर धनराशि इलेक्ट्रॉनिक रूप से राज्य के खाते से लाभार्थी के खाते में पहुंचाई जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत वित्तीय सहायता डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में पहुंचाई जाएगी।
  • सभी राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करना अनिवार्य है कि सभी लाभार्थियों ने अपना विवरण किसान सम्मान निधि पोर्टल पर दर्ज कर दिया है।
  • केंद्र शासित प्रदेश तथा राज्य सरकार द्वारा यह भी सुनिश्चित करना अनिवार्य है कि किसानों द्वारा अपलोड किया गया विवरण ठीक है या नहीं।
  • केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकार को इस योजना के लाभार्थियों का फंड ट्रांसफर किया जाएगा।
  • फंड जल्द से जल्द राज्य सरकारों को लाभार्थियों तक पहुंचाना होगा।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना का कार्यान्वयन

  • सभी राज्यों सरकार द्वारा Kisan Samman Nidhi List के लाभार्थियों की सूची तैयार करने की जाएगी।
  • इस सूची के अंतर्गत लाभार्थियों का नाम, आयु, जेंडर, कैटेगरी ,आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर तथा मोबाइल नंबर होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत पात्र किसान लाभार्थी की पहचान करने की जिम्मेदारी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश की होगी।
  • वे सभी राज्य (असम, मेघालय, जम्मू तथा कश्मीर) जिनके कई सारे नागरिकों को अभी आधार नंबर इश्यू नहीं किया गया है उनसे पहचान सत्यापन के लिए वैकल्पिक दस्तावेज जैसे की आईडी कार्ड, नरेगा जॉब कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि का विवरण प्राप्त किया जाएगा। इन राज्यों के उन नागरिकों जिनके पास आधार कार्ड नंबर है उनसे आधार नंबर लिया जाएगा।
  • किसी भी लाभार्थी को भुगतान प्राप्त करने में कोई भी परेशानी ना हो यह सुनिश्चित करना राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश की सरकार की जिम्मेदारी होगी।
  • यदि लाभार्थी द्वारा गलत बैंक विवरण या फिर अपूर्ण बैंक विवरण प्रदान किया गया है तो इस मामले को भी जल्द से जल्द सुलझाया जाएगा।
  • लाभार्थियों की पहचान करने के लिए राज्यों के मौजूदा भूमि स्वामित्व प्रणाली का उपयोग किया जाएगा।
  • इसके लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि भूमि का रिकॉर्ड स्पष्ट एवं अद्यतन हो।
  • सरकार द्वारा लैंड रिकॉर्ड का डिजिटलीकरण भी किया जाएगा और उन्हें आधार नंबर से लिंक किया जाएगा।
  • सभी पात्र लाभार्थियों की सूची जिला स्तर पर उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • वह सभी किसान परिवार जो पात्र हैं लेकिन उन्हें इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जा रहा है
  • उन्हें अपने केस का प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्रदान किया जाएगा।

हेल्प हेल्पडेस्क के माध्यम से गलती सुधारने की प्रक्रिया

कई बार ऐसा होता है कि किसान के द्वारा प्रदान की गई किसी गलत जानकारी की वजह से Kisan Samman Nidhi List के अंतर्गत किसानों की किश्त की राशि रोक ली जाती है। यदि आपके साथ भी यह समस्या आ रही है तो आप खुद अपनी गलती को हेल्प डेस्क के जरिए सुधार सकते हैं। इसके लिए आवेदन कर्ता को अपनी गलत जानकारी की जगह सही जानकारी देनी होगी। हेल्प डेस्क के माध्यम से अपनी गलती सुधारने की प्रक्रिया नीचे दी गई है।

  • सर्वप्रथम आपको पीएम किसान सम्मान निधि की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको हेल्प डेस्क के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपने आधार नंबर, अकाउंट नंबर तथा मोबाइल नंबर में से किसी एक का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके द्वारा चुना हुआ नंबर आपको दर्ज करना होगा।
  • अब आपको गेट डिटेल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने आपका फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • आपको इस फॉर्म में जो भी जानकारी संशोधित करनी है आप वह संशोधित कर सकते हैं।
  • अब आप को सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।

क्वेरी स्टेटस देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको Kisan Samman Nidhi List की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको हेल्प डेस्क के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Know Query Status के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपने आधार नंबर, अकाउंट नंबर तथा मोबाइल नंबर में से किसी एक को चुनना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपना अपना चुना हुआ नंबर दर्ज करके गेट डीटेल्स के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • ग्रीवेंस स्टेटस से संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

Pending for Approval at State District Level सही करने की प्रक्रिया

काफी सारे किसान ऐसे हैं जिनकी जानकारी में कुछ गलती होने की वजह से उन्हें किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। इनमें से कुछ किसान ऐसे भी हैं जिनको आवेदन स्थिति चेक करने पर PM Kisan Samman Nidhi Pending For Approval at State District Level लिखा हुआ दिखाई पड़ रहा है। इस वजह से उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। आप नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर कर इस समस्या का समाधान कर सकते हैं।

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना आधार नंबर तथा इमेज टेक्स्ट दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आप की आवेदन की स्थिति pending for approval at state district level दिखाई देगी।
  • आपको इस पेज का प्रिंट आउट लेना होगा।
  • अब आपको अपने तहसील या ब्लाक में जाना होगा।
  • अपने सभी दस्तावेज जैसे की फोटो, बैंक पासबुक, आधार कार्ड आवेदन की स्थिति का प्रिंट आदि लेकर नोडल अधिकारी के पास जाना होगा।
  • अब आपको यह सभी दस्तावेज नोडल अधिकारी के पास जमा करने होंगे।
  • नोडल अधिकारी आपके सभी दस्तावेजों का सत्यापन करेगा।
  • इसके बाद आपके आवेदन प्रक्रिया आरंभ की जाएगी।
  • आवेदन प्रक्रिया आरंभ होने के 30 से 45 दिन के अंदर आपको इस योजना का लाभ प्रदान कर दिया जाएगा।

सीएससी लॉग इन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको सीएससी लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • आपको इस पेज पर अपना यूजरनेम तथा पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको साइन इन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप सीएससी लॉगइन कर पाएंगे।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना भौतिक सत्यापन

वह सभी किसान जो Kisan Samman Nidhi List का लाभ प्राप्त करना चाहते है उनका भौतिक सत्यापन होगा। जिसकी जवाबदेही प्रखंड के प्रखंड तकनीकी प्रबंधक करेंगे। यह भौतिक सत्यापन की प्रक्रिया बिहार के कई जिलों में आरंभ हो चुकी है। कई सारे किसान ऐसे भी हैं जो इस योजना के पात्र नहीं है तब भी पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठा रहे हैं। ऐसे सभी किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत प्राप्त राशि को वापस करना होगा। कई सारे पात्र किसानों का नाम पीएम किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट में नहीं है। इस स्थिति में वह सभी लोग निम्नलिखित कांटेक्ट नंबर पर संपर्क करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

  • हेल्पलाइन नंबर 011-24300606
  • पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266
  • पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261
  • किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401
  • पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606
  • पीएम किसान हेल्पलाइन : 0120-6025109
  • ई-मेल आईडी: [email protected]

 ्म

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here