16.4 C
London
Wednesday, October 5, 2022

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022: किसान रजिस्ट्रेशन, PMFBY List, एप्लीकेशन स्टेटस

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana New Farmer Registration 2022, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करे और Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Status ,पात्रता एवं लाभ देखे, PMFBY Login & Beneficiary List। प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल को काफी नुकसान होता है। जिसकी वजह से किसानों को बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाली फसल के नुकसान की वजह से किसानों की आर्थिक स्थिति भी खराब हो जाती है। केंद्र सरकार द्वारा इस समस्या को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से किसानों को किसी भी प्रकार की आपदा के कारण हुए फसल के नुकसान पर बीमा प्रदान किया जाता है। आपको इस लेख के माध्यम से Pradhanmantri Fasal Bima Yojana online aavedan, पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेजों से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान की जाएगी।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana 2022

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत देश के किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में बर्बादी होने पर बीमा प्रदान किया जाएगा। इस योजना का कार्यान्वयन भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा किया जाता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में केवल प्राकृतिक आपदा जैसे कि सूखा पड़ना, ओले पड़ना आदि ही शामिल है। यदि किसी और वजह से फसल का नुकसान होता है तो बिमे की राशि नहीं प्रदान की जाएगी। Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 8800 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को खरीफ फसल का 2% और रवि फसल का 1.5% भुगतान बीमा कंपनी को करना होगा। जिस पर उन्हें बीमा प्रदान किया जाएगा। यदि आप भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा। किसान सम्मान निधि लिस्ट चेक करने के लिए यहां क्लिक करें

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Kharif फसल के लिए किया जाएगा 31 July तक पंजीकरण

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत खरीफ फसलों की registration प्रक्रिया start कर दी गई है। किसान अपनी फसलों का पंजीकरण 31 July 2022 तक करवा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत खरीफ फसलों में धान, कपास, मक्का, बाजरा तथा मूंग का registration किया जाएगा। इस बात की जानकारी कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उपनिदेशक डॉ विनोद कुमार जी के द्वारा प्रदान की गई है। इस योजना के अंतर्गत धन के लिए प्रीमियम की राशि 741 रुपए, कपास का premium 1798 रुपए, मक्का के प्रीमियम की राशि 370.51 रुपए, बाजरे के premium की राशि 348.70 रुपए तथा मूंग के प्रीमियम की राशि ₹326 रुपए प्रति acre निर्धारित किया गया है।

रबी की फसलों के लिए गेहूं का premium ₹425, जो का प्रीमियम ₹277.88, सरसों का प्रीमियम ₹286.6, चने का प्रीमियम ₹212.50 तथा सूरजमुखी का प्रीमियम ₹277.88 प्रति एकड़ निर्धारित किया गया है। रबी फसलों का पंजीकरण 31 december 2022 तक किया जाएगा। यदि कोई किसान अपना प्रीमियम नहीं करवाता है तो इस स्थिति में किसान को अंतिम 1 week पहले संबंधित bank लिखित में देय करना होगा। यदि किसान बीमित फसल बदलना चाहता है तो इस स्थिति में अंतिम तिथि से 2 दिन पहले अपने bank को inform करना होगा।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

Highlights PMFBY Scheme 2022

योजना का नामPradhanmantri Fasal Bima Yojana
विभागमिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर एंड फार्मर्स वेलफेयर
लाभार्थीदेश के किसान
ऑनलाइन आवेदन के आरंभ तिथिआरंभ है
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि31 जुलाई 2019(खरीफ फसल के लिए)
उद्देश्यदेश के किसानों को सशक्त बनाना
सहायता राशि₹200000 तक का बीमा
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार की योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in

मेरी पॉलिसी में राहत अभियान का शुभारंभ

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जी के द्वारा एक राष्ट्रीय अभियान आरंभ किया गया है। इस अभियान का नाम मेरी पॉलिसी मेरा हाथ है। इस अभियान का आरंभ इंदौर से 35 किलोमीटर दूर बुरी बलाई गांव में किया गया था। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य Pradhanmantri Fasal Bima Yojana की पहुंच देशभर के किसानों तक सुनिश्चित करना है। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 18 फरवरी 2016 को की गई थी। फसल बीमा योजना के तहत फसलों को सूखा, आंधी, तूफान, बे मौसम बारिश, बाढ़ आदि जैसे जोखिमों से सुरक्षा प्रदान करना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान की स्थिति में किसानों को किफायती दर पर बीमा प्रदान करना है। अब तक लगभग 36 करोड किसानों को इस योजना का लाभ प्रदान किया गया है।

मेरी पॉलिसी मेरे हाथ अभियान को 1 महीने तक संचालित किया जाएगा। जिसमें रबी 2021-22 के अंतर्गत बीमित सभी किसानों को उनके घर जाकर फसल बीमा के दस्तावेज प्रदान किए जाएंगे। इस अभियान के माध्यम से प्राकृतिक खेती, ड्रोन, ई सैंपल जैसी आधुनिक टेक्नोलॉजी से भी परिचित कराया जाएगा। इस अभियान का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सभी किसानों तक सरकार की नीतियों, भूमि रिकॉर्ड दावे की प्रक्रिया और शिकायत निवारण के बारे में सभी जानकारी प्राप्त हो रही है या नहीं। अब तक इस योजना के माध्यम से 107000 करोड़ से अधिक की राशि किसानों के खाते में वितरित की गई है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 49 लाख किसानों के खाते में किया गया भुगतान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत 49 लाख किसानों को 7618 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान किया गया है। राज्य के बेतूल जिले में सबसे ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री जी द्वारा बेतूल जिले से ही कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। सिंगल क्लिक के माध्यम से मुख्यमंत्री जी द्वारा यह राशि किसानों के खाते में ट्रांसफर की गई। यह राशि खरीफ 2020 एवं रबी 2020-21 मैं हुए फसल के नुकसान की भरपाई करने के लिए जारी की गई है। मुख्यमंत्री जी द्वारा यह भी जानकारी प्रदान की गई कि इस योजना के अंतर्गत पहले 2878 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था।

अब तक लगभग 10,494 करोड़ रुपए राज्य सरकार द्वारा किसानों के खाते में इस योजना के अंतर्गत ट्रांसफर किए गए हैं। पिछले 22 महीने में सरकार द्वारा 1.76 लाख करोड़ रुपए की राशि किसानों के खाते में वितरित की गई है। सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र का विकास करने के लिए निरंतर प्रयास किया जा रहा है। जिसके लिए सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाओं का कार्यान्वयन कर रही है।

31 दिसंबर 2021 तक किया जाएगा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत रबी सीजन के लिए कार्य आरंभ कर दिया गया है। लाभार्थियों द्वारा किसान बैंक में अपनी फसल के अनुसार प्रीमियम जमा करके इस योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। पात्र लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत 31 दिसंबर 2021 तक आवेदन कर सकते हैं। इस बात की जानकारी उपमंडल कृषि अधिकारी डॉ कृष्ण कुमार द्वारा प्रदान की गई है। राबी सीजन के लिए किसानों द्वारा मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण किया जा सकता है। इस पोर्टल पर अपनी फसल का सटीक विवरण भरना होगा।

इसके अलावा फसलों की स्थिति स्पष्ट करने भी अनिवार्य है। कई केस ऐसे हैं जो गेहूं के खेत में गेहूं के साथ सरसों भी बोई होती है। इस स्थिति में परेशानी आ सकती है। इसलिए केसीसी किसानों द्वारा 13 दिसंबर 2021 अपनी फसलों की स्तिथि बैंक में जाकर स्पष्ट करने अनिवार्य है जिससे कि भविष्य में उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। वह सभी किसान जो इस योजना का लाभ नहीं उठाना चाहते उन्हें बैंक में जाकर प्रीमियम ना कटवाने के लिए लिखित निवेदन करना होगा। जिसके लिए 15 दिसंबर 2021 से पहले बैंक में जाना होगा। बैंक द्वारा केसीसी धारक किसानों का प्रीमियम काटने की कार्रवाई 15 दिसंबर के बाद आरंभ कर दी जाती है। इसके पश्चात कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा। किसान क्रेडिट कार्ड योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए के लिए यहां क्लिक करें

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों की कवरेज

  • सभी किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।
  • जिसमें अधिसूचित क्षेत्रों में अधिसूचित फसलों को उगाने वाले बटाईदार एवं किश्तकार किसान भी शामिल हैं।
  • परंतु बीमित फसलों और भूमि के लिए किसानों का बीमा योग्य होना अनिवार्य है।
  • सभी किसानों को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अनिवार्य रूप से सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा करने होंगे।
  • बटाईदार एवं किराएदार किसानों की स्थिति किसानों को अनिवार्य रूप से अपनी आधार संख्या एवं बोई गई फसल के बारे में घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत क्रॉप

  • फूड क्रॉप
  • ऑयल सीड्स
  • एनुअल कमर्शियल/एनुअल हॉर्टिकल्चर क्रॉप्स
  • परेनियल हॉर्टिकल्चर/कमर्शियल क्रॉप्स

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana रिस्क कवरेज

  • इस योजना के अंतर्गत बेसिक कवर किसी प्राकृतिक आपदा की स्थिति में प्रदान किया जाएगा।
  • बेसिक कवरेज के अलावा इस योजना के अंतर्गत ऐडऑन कवरेज का विकल्प भी चुना जा सकता है जिसमें निम्नलिखित कवरेज शामिल की गई है।
    • प्रिंटेड सोइंग/प्लांटिंग/जर्मिनेशन रिस्क
    • मिड सीजन एडवर्सिटी
    • पोस्ट हार्वेस्ट लॉसेस
    • लोकल कैलेमिटीज
    • वाइल्ड एनिमल अटैक

एकीकृत किसान पोर्टल

रबी सीजन 2021 22 के लिए प्रीमियम की राशि

फसल का नामप्रति हेक्टेयर प्रीमियम की राशि
गेहूंRs 11000.90
जौRs 661.62
सरसोंRs 681.09
चनेRs 505.95
सूरजमुखीRs 661.62

प्रति हेक्टेयर बीमित राशि

फसल का नामप्रति हेक्टेयर बीमित राशि
गेहूंRs 67460
जौRs 44108
सरसोंRs 45405
चनेRs 33730
सूरजमुखीRs 44108

मध्य प्रदेश के 47 लाख किसानों ने किया आवेदन

मुख्यमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से मध्य प्रदेश में इस वर्ष 47 लाख किसानों को लाभ पहुंचा है। प्रतिवर्ष 3 लाख किसान इस योजना से जुड़े रहे हैं। सबसे ज्यादा उज्जैन के किसानों ने इस योजना के अंतर्गत अपना बीमा कराया है। उज्जैन में बीमा कराने वाले किसानों की संख्या 4 लाख 29 हजार है एवम सिंगरौली में 855 किसानों ने बीमा करवाया है। सन 2016 में 25 लाख किसानों ने तथा सन 2018 में 35 लाख किसानों ने बीमा कराया है। इस वर्ष बीमा कराने वाले किसानों की संख्या पिछले सभी वर्षों से अधिक है। इस योजना के अंतर्गत बीमा कराने के लिए किसानों को केवल 2% प्रीमियम का भुगतान करना होता है एवं प्रीमियम की 98% राशि केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा वहन की जाती है। इसके अलावा मंदसौर, सीहोर, देवास, राजगढ़ के किसानों ने भी इस योजना के अंतर्गत अपना बीमा कराया है।

इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य 100% किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ प्रदान करना है। अब तक लगभग 50% किसानों को इस योजना के अंतर्गत कवर कर लिया गया है। यदि किसान पहले से तय फसल को बदलना चाहता है तो किसान को अंतिम तारीख से 2 दिन पहले बदलाव के लिए अपनी बैंक को सूचना देनी होगी। वह किसान जिन के पास किसान क्रेडिट कार्ड नहीं है वह कस्टमर सर्विस सेंटर या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि से अपनी फसल का बीमा करवा सकते हैं। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए के लिए यहां क्लिक करें

यूपी फसल बीमा योजना अपडेट

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana का लाभ सभी किसानों तक पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा इस योजना के नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं। नए नियमों के अंतर्गत यदि किसानों को फसल पर किसी प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है तो उस स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा पहले से अधिक लाभ प्रदान किया जाएगा। पहले गेहूं काटने के बाद मड़ाई के दौरान यदि आग लग जाती थी या फिर बारिश हो जाती थी तो इस स्थिति में किसानों को नुकसान हो जाता था। इस स्तिथि में बीमे का लाभ अकेले किसान को नहीं मिलता था। यह लाभ सामूहिक होता था। इस प्रक्रिया के अंतर्गत कई बार ऐसा होता था कि उन किसानों को भी योजना का लाभ मिल जाता था जिनका कोई नुकसान नहीं हुआ है और कई नुकसान उठाने वाले किसान इस योजना का लाभ पूरी तरह से प्राप्त नही हो पाता था।

इस नई व्यवस्था के अंतर्गत अलग-अलग किसानों को पूरी फसल के नुकसान का लाभ प्रदान किया जाएगा। यह लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को अपने सभी दस्तावेजों के साथ किसी बैंक से संपर्क करना होगा। इसके पश्चात धान एवं गेहूं प्रति हेक्टेयर की निर्धारित रकम का किसान द्वारा डेढ़ से दो फीसदी प्रीमियम जमा किया जाएगा। जिसके पश्चात किसानों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

लखनऊ के लगभग 35000 किसानों ने किया बीमा

वह सभी किसान जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड है उनको दोबारा से Pradhanmantri Fasal Bima Yojana का लाभ प्राप्त करने के लिए बीमा करवाने की आवश्यकता नहीं है। फसल का नुकसान होने पर किसानों को टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके सूचना देनी अनिवार्य है। टोल फ्री नंबर 18001030061 है। इसके अलावा किसानों द्वारा नुकसान की सूचना कृषि विभाग के अधिकारियों को भी दी जा सकती है। उत्तर प्रदेश के लखनऊ में 35259 किसानों ने बीमा करवाया है जिसके लिए किसानों द्वारा 3.27 करोड़ रुपए के प्रीमियम का भुगतान किया गया है। लगभग 8411 किसानों ने इस योजना के अंतर्गत क्लेम किया है। जिसके लिए बीमा कंपनी द्वारा 5.78 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है।

लखनऊ में कुल 2.29 लाख किसान है और 172714 किसान क्रेडिट कार्ड धारक है। अब तक इस योजना के अंतर्गत 90000 किसानों का पंजीकरण हो चुका है एवं 1.16 करोड़ किसानों का पंजीकरण होना बाकी है।

31 जुलाई 2021 से पहले करें पंजीकरण

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को किसी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में होने वाली बर्बादी पर बीमा कवर प्रदान किया जाता है। सरकार द्वारा इस योजना के कार्यान्वयन का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। जिला स्तर पर परियोजना अधिकारी व सर्वेयर इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नियुक्त किए गए हैं। यह परियोजना अधिकारी व सर्वेयर सिर्फ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का कार्य करते हैं। इसके अलावा बीमा कंपनी द्वारा भी जिला एवं ब्लॉक स्तर पर अपने कर्मचारियों की नियुक्ति इस योजना के कार्यान्वयन के लिए को गई है। सरकार द्वारा सभी किसानों की शिकायतों का निपटान करने के लिए एक शिकायत निवारण समिति का भी गठन किया गया है। यह शिकायत निवारण समिति जिला स्तर पर कार्यरत है।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत हरियाणा में वर्ष 2021 में खरीफ सीजन में धान, मक्का, बाजरा व कपास एवं रबी सीजन में गेहूं, जाै, चना, सरसों तथा सूरजमुखी की फसलों का बीमा किया जाएगा। वह सभी किसान जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें 31 जुलाई 2021 से पहले पहले पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा।

योजना से निकासी करने के लिए लिखित में दें बैंक को सूचना

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana देश के सभी किसानों के लिए स्वैच्छिक है। यदि कोई भी ऋण लेने वाला किसान इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त करना चाहता तो उसे इस बात की जानकारी 24 जुलाई 2021 तक अपने बैंक को लिखित में देनी होगी। इसके पश्चात उस किसान को इस योजना से बाहर कर दिया जाएगा। यदि किसान द्वारा तय सीमा तक कोई भी जानकारी बैंकों को नहीं प्रदान की गई तो बैंक द्वारा किसान का पंजीकरण इस योजना के अंतर्गत कर दिया जाएगा। और बीमे के प्रीमियम की राशि काट ली जाएगी। वह सभी किसान जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं वह अपना आवेदन ग्राहक सेवा केंद्र या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि के माध्यम से कर सकता है।

यदि किसी भी किसान द्वारा पहले से नियोजित फसल में कोई बदलाव किया जाता है तो उसे इस बात की जानकारी आवेदन की अंतिम तिथि से 2 दिन पहले बैंक में देनी होगी। यानी कि किसान को इस बात की जानकारी 29 जुलाई 2021 तक बैंक में प्रदान करनी होगी। यदि आप इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप किसान कल्याण विभाग द्वारा जारी किए गए टोल फ्री नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। टोल फ्री नंबर 1800 180 2117 है। इसके अलावा बैंक शाखा या बीमा कंपनी से संपर्क करके भी इस योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना प्रीमियम राशि

फसलप्रीमियम राशि
धान713.99 रुपए प्रति एकड़
मक्का356.99 रुपए प्रति एकड़
बाजरा335.99 रुपए प्रति एकड़
कपास1732.50 रुपए प्रति एकड़
गेहूं409.50 रुपए प्रति एकड़
जौ267.75 रुपए प्रति एकड़
चना204.75 रुपए प्रति एकड़
सरसो275.63 रुपए प्रति एकड़
सूरजमुखी267.75 रुपए प्रति एकड़

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली रकम

फसलबीमित राशि
धान35699.78 रुपया प्रति एकड़
मक्का17849.89 रुपया प्रति एकड़
बाजरा16799.33 रुपया प्रति एकड़
कपास34650.02 रुपया प्रति एकड़
गेहूं27300.12 रुपया प्रति एकड़
जौ17849.89 रुपया प्रति एकड़
चना13650.06 रुपया प्रति एकड़
सरसो18375.17 रुपया प्रति एकड़
सूरजमुखी17849.89 रुपया प्रति एकड़

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 52 लाख किसानों को मिली दावे की राशि

इस योजना के अंतर्गत सन 2018–19 में 52,41,268 किसानों को फसल के क्लेम की राशि का भुगतान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष लगभग 5.5 करोड़ किसान आवेदन करते हैं। अब तक सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 90000 करोड़ रुपए तक के दावों का भुगतान किसानों के खाते में किया जा चुका है। यह भुगतान किसानों के खाते में सीधे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से किया जाता है। यदि आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आप को Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत आवेदन करना होगा। आवेदन ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से किया जा सकता है। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत किसानों को आवेदन आरंभ होने की जानकारी देने के लिए रवि तथा खरीफ सीजन में विज्ञापन भी जारी किया जाता है।

सरकार द्वारा इस योजना का प्रचार भी किया जाता है। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा किसानों तक इस योजना की जानकारी पहुंचाई जा सके और सभी पात्र किसान इस योजना का लाभ उठा सकें। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से किसानों को फसल खराब होने के कारण आर्थिक नुकसान से बचाया जा सकता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अब तक किए गए 90000 करोड रूपए के दावों का भुगतान

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को फसल पर प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह योजना 13 जनवरी 2016 को आरंभ की गई थी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बाढ़, आंधी, तेज बारिश आदि के चलते फसल को हुए नुकसान पर किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना को भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा संचालित किया जाता है। Fasal Bima Yojana के अंतर्गत एक वर्ष में लगभग 5.5 करोड़ किसानों के आवेदन आते हैं और इस योजना में अब तक 90000 करोड रुपए के दावों का भुगतान किया जा चुका है। यह दावे आधार सीडिंग के माध्यम से निपटाए जाते हैं। कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 7000000 किसानों को 8741.30 करोड़ रुपए प्रदान किए गए।

  • इस योजना के अंतर्गत अतिरिक्त प्रीमियम की राशि राज्य एवं भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है और पूर्वोत्तर राज्यों में 90 फ़ीसदी प्रीमियम की राशि भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत औसदन बीमित राशि ₹40700 कर दी गई है। यह राशि पहले ₹15,100 प्रति हेक्टेयर थी।
  • इस योजना के अंतर्गत बुवाई से पहले से लेकर कटाई के बाद तक की पूरा समय शामिल किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत रोकी गई बुवाई और फसल के बीच होने वाली प्राकृतिक आपदाओं से होने वाला नुकसान भी शामिल किया गया है। इस योजना के अंतर्गत समय-समय पर सुधार किए गए हैं। जिससे कि इसे फ्लैक्सिबल बनाया जा सके।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का बजट

फसल को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आरंभ की गई थी। इस योजना के अंतर्गत बुवाई से पहले से लेकर कटाई के बाद तक का समय कवर किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत रोकी गई बुवाई और मध्य मौसम प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को भी कवर किया गया है। फसल का नुकसान होने पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना को 13 जनवरी 2016 को आरंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत वित्त वर्ष 2021–22 के लिए 16000 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। यह बजट पिछले साल के बजट के तुलना में 305 करोड रुपए ज्यादा है। इस योजना के माध्यम से कृषि क्षेत्र का विकास होगा।

  • विश्व स्तर पर भागीदारी के मामले में Fasal Bima Yojana सबसे बड़ी फसल बीमा योजना है तथा प्रीमियम के मामले में तीसरी सबसे बड़ी योजना है। प्रतिवर्ष लगभग 5.5 करोड़ किसान इस योजना के अंतर्गत आवेदन करते हैं। पिछले 5 वर्षों का कार्यान्वयन देखते हुए सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को रीलॉन्च करने का निर्णय लिया था। इस योजना को रीलॉन्च करने के बाद इसमें कई संशोधन भी किए गए हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत फसल नुकसान की रिपोर्ट करना बेहद आसान है। यह रिपोर्ट ऐप के माध्यम से, कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से या फिर निकटतम कृषि अधिकारी के माध्यम से फसल नुकसान के 72 घंटे के भीतर किया जा सकती है। दावे की राशि किसान के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से पहुंचाई जाएगी। इस योजना के अंतर्गत नामांकित कुल किसानों में से 84% छोटे और सीमांत किसान हैं।

पीएम फसल बीमा योजना रबी फसल बीमा प्रक्रिया शुरू

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत रबी फसल बीमा प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी किसानों के बैंक अकाउंट से प्रीमियम की राशि काटी जाएगी। सभी बैंकों को सरकार द्वारा प्रीमियम की राशि काटने के निर्देश दे दिए गए हैं। 31 दिसंबर 2020 से पहले पहले प्रीमियम की राशि किसानों के अकाउंट से काट ली जाएगी और फिर इसकी जानकारी 15 जनवरी 2021 तक पोर्टल पर दर्ज कर दी जाएगी। एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी सभी मध्यप्रदेश के बैंकों के नोडल कार्यालय को प्रदान कर दी है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को स्केल ऑफ फाइनेंस का 1.5 फ़ीसदी प्रीमियम के रूप में देना होगा।

  • सभी ऋणी किसानों का प्रीमियम बैंक द्वारा स्वत ही काट लिया जाएगा। अब इस योजना के अंतर्गत ऋणी किसानों को सहमति पत्र देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और वह सभी ऋणी किसान जो इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त नहीं करना चाहते उन्हें बैंक में असहमति पत्र जमा करना होगा।
  • इसी के साथ सभी अऋणी किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए सहमति पत्र देना अनिवार्य होगा तभी उनकी फसल का बीमा हो पाएगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए सभी किसानों को किसी भी राज्य स्तरीय सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, वाणिज्यिक बैंक, वित्तीय संस्था से संपर्क करना होगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का उद्देश्य

भारत में अधिकतर खेती करने वाले किसानो को फसलों में होने वाले नुकसान पर सरकार मदद करेगी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 किसानो को खेती में रूचि बनाये रखना तथा स्थायी आमदनी उपलब्ध कराना इस योजना में किसानो की फसलों में होने वाले नुकसान व चिंताओं से मुक्त कराना है और लगातार खेती करने के लिए किसानो को बढ़ाबा देना है और भारत  को विकसित तथा प्रगतिशील बनाना है |

नामांकित किसानों के आवेदनों की संख्या

वर्षनामांकित किसानों की संख्या
2018-19577.7 lakh
2019-20612.3 lakh
2020-21613.6 lakh

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

  • PM Fasal Bima Yojana को देश के किसानों को किसी प्राकृतिक आपदा के कारण होने वाले फसल के नुकसान पर इंश्योरेंस कवर प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से अब तक लाखों किसानों को लाभ पहुंचा है।
  • पहले 3 वर्षों में किसानों द्वारा लगभग 13000 करोड रुपए का प्रीमियम जमा किया गया है।
  • जिसके बदले उनको 60000 करोड रुपए तक का इंश्योरेंस क्लेम प्राप्त हुआ है।
  • सरकार द्वारा सभी पात्र किसानों तक इस योजना का लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाता है। जिस के लिए सरकार द्वारा प्रचार किया जाता है।
  • इस योजना को 27 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित किया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत क्लेम रेश्यो 88.3 प्रतिशत है।
  • सरकार द्वारा समय-समय पर इस योजना की समीक्षा की जाती है एवं सभी हितग्राही को से संवाद किया जाता है।
  • इस योजना में फरवरी 2021 में कुछ संशोधन भी किए गए हैं। जिससे कि सभी किसानों को और बेहतर सुविधाएं प्रदान की जा सके।
  • संशोधित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अनुसार वह राज्य जिनमें स्टेट सब्सिडी की पेमेंट लंबे समय तक विलंब है वह इस योजना में भाग नहीं ले पाएंगे।
  • बीमा कंपनी द्वारा 0.5% प्राप्त हुई प्रीमियम की राशि इंफॉर्मेशन, एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन एक्टिविटी के लिए खर्च की जाती है।
  • इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए एक सेंट्रल एडवाइजरी कमेटी का भी गठन किया गया है।
  • Pradhanmantri Fasal Bima Yojana को आधार एक्ट 2016 के अंतर्गत संचालित किया जाता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी के पास आधार नंबर होना अनिवार्य है।
  • इस योजना को संचालित करने का मुख्य उद्देश्य सभी किसानों को खेती करने के लिए बिना किसी आपदा की चिंता किए प्रोत्साहित करना है।


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना दिसंबर अपडेट

फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान पर इंश्योरेंस कवर प्रदान किया जाता है। अब सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत वाइल्ड लाइफ डैमेज को कवर करने का भी फैसला लिया गया है। अब प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत यदि फसल को जंगली जानवरों के कारण नुकसान पहुंचता है तो किसान को फसल पर हुए नुकसान पर कवर प्रदान किया जाएगा। यह सुविधा एक ऐडऑन कवरेज के तौर पर प्रदान की जाएगी। यह एड ऑन कवरेज किसानों के लिए वैकल्पिक होगी।

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत यदि वाइल्ड लाइफ कवर किसानों को लेना है तो उसके लिए प्रीमियम का भुगतान किसानों को ही करना होगा। हालांकि राज्य सरकार इस कवरेज पर अतिरिक्त सब्सिडी प्रदान करने पर विचार कर रही है।
  • बीमा कंपनी तथा MoEFCC के परामर्श से सरकार द्वारा बोलियो के मूल्यांकन के लिए विस्तृत प्रोटोकॉल और प्रक्रिया तैयार कर ली गई है।
  •  वन अधिकारियों द्वारा यह भी बताया गया है कि राज्य पहले से ही क्रॉप डैमेज कंपनसेशन किसानों को प्रदान करती थी। अब विभिन्न राज्यों द्वारा प्राप्त किए गए सुझाव के अनुसार जंगली जानवरों से हुए नुकसान को भी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के दिशा निर्देशों में शामिल कर लिया गया है। महाराष्ट्र के फसल क्षति को रोकने के लिए स्थापित किए गए एक पैनल के द्वारा भी इस कदम की सिफारिश की गई है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना नवंबर अपडेट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों की फसल को कुदरती आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई करने के लिए आरंभ की गई है। इस समय देश में कहीं भारी बारिश हो रही है तो कहीं सूखा पड़ा है। जिससे की फसल को काफी भारी नुकसान पहुंच रहा है। यदि फसल को कोई नुकसान होता है तो 72 घंटे में शिकायत स्थानीय कृषि कार्यालय किसान हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करानी होगी। इसके अलावा यह शिकायत क्रॉप इंश्योरेंस ऐप पर भी दर्ज कराई जा सकती है। यदि आपको इस बारे में अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप हेल्पलाइन नंबर वन 18001801551 पर संपर्क कर सकते हैं।

<script=”” src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″ defer=”” data-deferred=”1″>

Crops & Premium In PMFBY Scheme 2022

क्र0स0फसलकिसान द्वारा देय बीमा राशि का प्रतिशत
1खरीफ2.0%
2रबी1.5%
3वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसले5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्रीमियम राशि

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होता है। यह प्रीमियम की राशि अन्य फसल बीमा योजनाओं की अपेक्षा में प्रधानमंत्री बीमा योजना में बहुत कम रखी गई है। प्रीमियम की राशि कुछ इस प्रकार है।

  • खरीफ फसल के लिए: बीमित राशि का 2%
  • रबी फसल के लिए: बीमित राशि का 1.5%
  • सालाना वाणिज्यिक और बागवानी की फसल के लिए: बीमित राशि का 5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना  गतिविधि कैलेंडर

गतिविधि कैलेंडरखरीफरबी
अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत ऋण।अप्रैल से जुलाई तकअक्टूबर से दिसम्बर तक
किसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट ऑफ़ तारीख (ऋणदाता और गैर-ऋणदाता)।31 जुलाई31 दिसम्बर
उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीखअतिंम फसल के एक महीने के भीतरअतिंम फसल के एक महीने के भीतर

Revised प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

प्रकारवर्ष 2016 के लियेवर्ष 2019 के लिये
किसान द्वारा देय प्रीमियम धनराशिरू 900रू 600
शतप्रतिशत नुकसान की दशा मे किसान को प्राप्त धन राशिरू 15000रू 30000

फसल बीमा योजना में अब तक जमा किया गया प्रीमियम

पिछले तीन सालों में Pradhanmantri Fasal Bima Yojana में 13,000 करोड़ रुपये का प्रीमियम जमा हुआ है, लेकिन जब प्राकृतिक आपदा आई, तो किसानों को प्रीमियम से साढ़े 4 गुनी राशि करीब 64,000 करोड़ रुपये मुआवजा के रूप में प्राप्त हुआ।’ तोमर ने बताया कि प्रीमियम की हिस्सेदारी में कोई बदलाव नहीं हुआ है। यह खरीफ फसल के लिए 2 फीसद, रबी फसल के लिए 1.5 फीसद और व्यावसायिक व बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 फीसद है।लॉकडाउन के दौरान इस योजना के तहत 8,090 करोड़ रुपये से अधिक के दावों का भुगतान किया गया है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की विशेषताएं

  • PM Fasal Bima Yojana के माध्यम से प्राकृतिक कारणों की वजह से फसल को होने वाले नुकसान पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों की आय में स्थिरता आती है एवं उन्हें नवीन प्रथाओं को अपनाने में प्रोत्साहन प्राप्त होता है।
  • प्रमुख फसलों के अधिसूचित बीमा इकाई को कम कर दिया गया है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को actuarial/bidded प्रीमियम रेट पर संचालित किया जा रहा है।
  • इस योजना के अंतर्गत छोटे किसानों को अधिकतम 2% खरीफ पर, 1.5% राबी एवं तिलहन फसलों पर एवं 5% वाणिज्य या बागवानी फसलों पर प्रीमियम का भुगतान करना होगा। इसके अलावा यदि किसान को अधिक प्रीमियम देना पड़े तो उसकी 50% की राशि राज्य सरकार एवं 50% की राशि केंद्र सरकार द्वारा वाहन की जाएगी। पूर्वोत्तर राज्यों के मामले में 90% की राशि केंद्र सरकार एवं 10% की राशि राज्य सरकार द्वारा वाहन की जाएगी।
  • किसान द्वारा देय प्रीमियम एवं बीमा शुल्क की दर के बीच का अंतर सब्सिडी के रूप में प्रदान किया जाएगा।
  • ऋणी एवं गैर ऋण किसानों को सामान्य बीमा राशि का भुगतान करना होगा।
  • सरकार द्वारा प्रीमियम पर कैपिंग के प्रावधान को हटा दिया गया है जिसके कारण बीमा राशि में कमी आई है।
  • इस योजना के अंतर्गत रोकी गई बुवाई के लिए बीमित राशि के 25% तक के दावे का प्रावधान है।
  • यदि बीमा इकाई में फसल की क्षति 50% से अधिक बताई जाती है तो मध्यम मौसम प्रतिकूलता के लिए बीमा राशि का 25% तक ऑन अकाउंट भुगतान किया जाएगा।
  • शेष क्लेम की राशि फसल कटाई प्रयोगों के आंकड़ों के माध्यम से प्रदान की जाएगी।
  • दावों को शीघ्र निपटाने के लिए फसल के नुकसान का आकलन करने के लिए रिमोट सेंसिंग तकनीक, स्मार्टफोन और ड्रोन का उपयोग किया जाएगा।
  • फसल बीमा पोर्टल को भी इस योजना के बेहतर कार्यान्वयन के लिए विकसित किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से दावे की राशि सीधे किसान के खाते में जमा की जाती है।
  • सरकार द्वारा सभी हिट धारकों के बीच योजना के बारे में जागरूकता फैलाने का प्रयास किया जाता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत देश के किसानो की फसलों में होने वाले नुकसान का बीमा दिया जायेगा
  • यदि किसी किसान की फसल प्राकर्तिक आपदा के कारण नष्ट हुई है तो उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा ।
  • यदि किसी किसान की फसल किसी मानव के कारण नष्ट हुई है तो उन्हें इस योजना के तहत कोई लाभ प्राप्त नहीं होगा ।
  • पॉलिसी के अंतर्गत किसानो को खरीफ फसल 2% के लिए रवि की फसल के लिए 1. 5% का भुगतान करते है जिसके अनुसार प्राकृतिक नुकसान जैसे -सूखा बाढ़ ओले के कारण फसल को बहुत हानि होने पर सरकार द्वारा मदद की जाती है |

Fasal Bima Yojana की पात्रता

  • इस योजना के तहत देश के सभी किसान पात्र हो सकते है ।
  • इस योजना के तहत आप अपनी ज़मीन पर की गयी खेती का बीमा करवा सकते है साथ ही आप किसी उधार की पर ली गयी ज़मीन पर की गयी खेती का भी बीमा करवा सकते है ।
  • देश क उन किसानो का इस योजना के तहत पात्र माना जायेगा ।जो पहले किसी बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हो ।

PMFBY के ज़रूरी दस्तावेज़

  • किसान का आई डी कार्ड
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता
  • किसान का एड्रेस प्रूफ (जैसे ड्राइविंग लाइसेंस ,पासपोट, वोटर   ID कार्ड )
  • अगर खेत किराये पर लेकर खेती की गयी है तो खेत के मालिक के साथ इकरार की फोटो कॉपी
  • खेत का खाता नंबर /खसरा नंबर के पेपर
  • आवेदक का फोटो
  • किसान द्वारा फसल की वुआई शुरू किए हुए दिन की तारीख

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना मैं आवेदन करने के लिए कुछ जरूरी तिथियां

यदि आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो खरीफ फसल के लिए अंतिम तिथि 31 जुलाई है तथा रबी फसल के लिए अंतिम तिथि 31 दिसंबर है। इस योजना की अंतिम तिथि सीएससी केंद्र, पीएमएफबीवाई पोर्टल, इंश्योरेंस कंपनी या फिर कृषि अधिकारी से भी पूछी जा सकती हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन ?

  • Pradhanmantri Fasal Bima Yojana फॉर्म ऑनलाइन भरने की लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करना होगा |
  • फसल बीमा योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आप को ऑफिशियल वेबसाइट पर अपना एक एकाउंट बनाना होगा
  • अकाउंट बनाने की लिए रजिस्ट्रेंशन पर क्लिक करना होगा ओर यहां पर पूछी गई सभी जानकारी को सही सही करना होगा
  • सभी जानकारी भरने की बाद Submit बटन पर क्लिक कर दे और उसके बाद आप का अकाउंट Official Website बन जायगा
  • अकाउंट बनने की बाद अपने अकाउंट में लॉग इन करके आपको फसल बीमा योजना की लिए फॉर्म भरना होगा
  • फसल बीमा योजना का फॉर्म सही सही भरने के बाद आपको Submit बटन पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आपको अपनी स्क्रीन पर सक्सेसफुल का मैसेज दिखाई देगा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको नियमित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको अपने नजदीकी बीमा कंपनी जाना होगा।
  • अब आपको कृषि विभाग से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को आवेदन पत्र से अटैच करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको यह आवेदन पत्र कृषि विभाग में जमा करना होगा।
  • अब आपको प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको एक रेफरेंस नंबर दिया जाएगा।
  • आपको इस रेफरेंस नंबर को संभाल कर रखना होगा।
  • इस नंबर के माध्यम से आप अपनी आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

पोर्टल पर साइन इन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको Sign in के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा जिसमें आपको अपना Mobile Number, Paasword तथा Captcha Code दर्ज करना होगा।
  • अब आपको Login के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप पोर्टल पर लॉगिन कर पाएंगे।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana का लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया

यदि किसी प्राकृतिक आपदा जैसे कि तूफान, बारिश, भूकंप आदि के कारण आप की फसल को नुकसान पहुंचा है और आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभार्थी हैं तो आप नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो करके इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

  • सर्वप्रथम आपको अपने एग्रीकल्चर ऑफिसर या फिर इंश्योरेंस कंपनी के पास जाना होगा।
  • आपको एग्रीकल्चरल ऑफिसर या इंश्योरेंस कंपनी को नुकसान होने के 72 घंटे के अंदर अंदर नुकसान की जानकारी प्रदान करनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको नुकसान की तिथि एवं समय की जानकारी भी प्रदान करनी होगी।
  • आपको फसल के नुकसान की तिथि तथा टाइम के साथ साथ फसल की फोटो भी जमा करनी होगी।
  • यह पूरी प्रक्रिया आप क्रॉप इंश्योरेंस ऐप के माध्यम से भी कर सकते हैं।
  • अन्य जानकारी के लिए आप फार्मर कॉल सेंटर पर संपर्क कर सकते हैं जो कि 18001801551 है।

फसल बीमा योजना आवेदन की स्थिति कैसे देखे ?

  • सबसे पहले आपको योजना की Official Website पर जाना होगा | Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
  • आपको इस होम पेज पर Application Status का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा | ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा |
  • इस पेज पर आपको अपना Reciept Number भरना होगा फिर कैप्चा कोड डालना होगा इसके बाद Search Status के बटन पर क्लिक करना होगा |
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आपके आवेदन की स्थिति आ जाएगी |

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का सरकार द्वारा एंड्रॉयड ऐप लांच कर दिया गया है। जो कि Official Website या फिर गूगल प्ले स्टोर के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एप के माध्यम से किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, अपना एप्लीकेशन स्टेटस चेक कर सकते हैं, अपने इंश्योरेंस प्रीमियम की राशि कैलकुलेट कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एप का मुख्य उद्देश्य किसानों को प्रीमियम तथा insured sum की राशि बताना है। यह ऐप किसान का डाटा ऑटो बैकअप कर लेता है। आप नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर कर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं।

  • सर्वप्रथम आपको अपने मोबाइल फोन में गूगल प्ले स्टोर खोलना होगा।
  • अब आपको सर्च बॉक्स में प्रधानमंत्री फसल बीमा ऐप एंटर करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक सूची खुल कर आएगी जिसमें से आप को सबसे ऊपर वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Install के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार प्रधानमंत्री फसल बीमा आपके मोबाइल फोन में डाउनलोड हो जाएगा।
  • अप किसान ऐप में अपना नाम तथा फोन नंबर डालकर पंजीकरण कर सकते हैं और क्रॉप इंश्योरेंस की डिटेल देख सकते हैं।

फसल बीमा योजना लाभार्थी सूची देखने की प्रक्रिया

आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको लाभार्थी सूची के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपने ब्लॉक का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप ब्लॉक का चयन करेंगे आपके सामने लाभार्थी सूची खुलकर आ जाएगी।
  • आप इस सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

बैंक के माध्यम से

  • सर्वप्रथम आपको अपने नजदीकी बैंक जाना होगा।
  • अब आपको संबंधित अधिकारी को अपना एप्लीकेशन नंबर देना होगा।
  • इसके पश्चात आपको बैंक अधिकारी द्वारा मांगे गए दस्तावेजों को देना होगा।
  • बैंक अधिकारी आपको लाभार्थी सूची से संबंधित जानकारी प्रदान कर देगा।
  • इस प्रकार आप लाभार्थी सूची में अपना नाम देख पाएंगे।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana लिस्ट डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पर खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Dashboard के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको कवरेज डैशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको स्टेट वाइज रिपोर्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपने सब जिले का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपने ब्लॉक का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपनी ग्राम पंचायत का चयन करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

इन्शुरन्स प्रीमियम कैलकुलेट कैसे करे ?

  • सबसे पहले आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको Insurance Calculator का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको पूछी गयी कुछ जानकारी जैसे फसल का चयन , साल ,स्कीम , स्टेट , डिस्ट्रिक्ट , क्रॉप आदि का चयन करना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Calculate के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आप प्रीमियम को कैलकुलेट कर सकते है।

इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्ट देखने की प्रक्रिया

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्टरी देख सकते हैं।

बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने की प्रक्रिया

  • इसके पश्चात आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आप बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देख सकते हैं।

शिकायत दर्ज कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको Official Website पर जाना होगा। Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। इस होम पेज पर आपको Technical Grievance क ऑप्शन दिखाई देगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको Name, Mobile Number , Email ID , और Comments को दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपको शिकायत दर्ज हो जायेगा।

स्टेट वाइज फार्मर डिटेल जानने की प्रक्रिया

  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने Farmer Details लिस्ट खुलकर आ जाएगी। आप इसमें से जिस भी साल की फार्मर डिटेल्स चेक करना चाहते हैं आप उसे डाउनलोड करके चेक कर सकते हैं।

Note- जो किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत आवेदन करना चाहते है वह सरकारी दफ्तरो जैसे बैंक बैंक/PACS/ जनसेवा केंद्र  बीमा एजेन्ट या सीधे बीमा कम्पनी से भी आवेदन कर सकता है और इस वर्ष खरीफ की फसल की बीमा की अंतिम तिथि दिनांक 31 जुलाई 2019 है। इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं

फीडबैक की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको योजना की Official Website पर जाना होगा। Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको नीचे फीडबैक का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम ,मोबाइल नंबर ,ईमेल आईडी कमैंट्स आदि को भरना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Captcha Code डालकर Submit के बटन पर क्लिक करना होगा।

बीमा का क्लेम करते समय रखना होगा इन बातों का ध्यान

यदि आपने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन किया है और आप बीमा का क्लेम करना चाहते हैं तो आपको बीमा कंपनी को छोटे पैमाने पर प्राकृतिक आपदाओं की जानकारी प्रदान करनी होगी। यह जानकारी आपको समय से प्रदान करनी होगी। यदि आपने आपदा की जानकारी बीमा कंपनी को देने में देरी की तो आपको क्लेम का भुगतान नहीं किया जाएगा। छोटे पैमाने पर प्राकृतिक आपदाओं में ओलावृष्टि, भू-स्खलन, अतिवृष्टि, बादल फटने, प्राकृतिक आग लगने तथा बेमौसम वर्षा या सामान्य से अधिक वर्षा होने आदि शामिल है। हाल ही में 9,30,000 किसानों के बीमा क्लेम रद्द कर दिए गए हैं। क्योंकि उन्होंने समय से बीमा कंपनी को प्राकृतिक आपदा की जानकारी नहीं प्रदान की थी।

यदि किसी बड़े पैमाने पर प्राकृतिक आपदा आती है तो इस स्थिति में आपको बीमा कंपनी को प्राकृतिक आपदा की जानकारी देने की जरूरत नहीं है। यदि आप क्लेम प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप बीमा कंपनी को सही समय पर सूचित कर दें नहीं तो प्रीमियम का भुगतान करने के बाद भी आपको क्लेम नहीं प्राप्त होगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत क्लेम करने की प्रक्रिया

यदि आप की फसल को नुकसान पहुंचा है तो आपको नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर कर बीमा राशि का क्लेम कर सकते हैं।

  • सर्वप्रथम किसान को फसल के पहुंचे नुकसान की जानकारी इंश्योरेंस कंपनी, बैंक या फिर राज्य सरकार अधिकारी को देनी होगी।
  • यह जानकारी किसान को टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके नुकसान होने के 72 घंटे के भीतर देनी होगी।
  • यदि आपने इंश्योरेंस कंपनी के अलावा किसी और को नुकसान की जानकारी दी है तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि वह जल्द से जल्द यह जानकारी इंश्योरेंस कंपनी तक पहुंचाएं।
  • जैसे ही इंश्योरेंस कंपनी तक जानकारी पहुंचेगी इंश्योरेंस कंपनी 72 घंटे के भीतर नुकसान निर्धारणकरता नियुक्त करेगी।
  • अगले 10 दिन के भीतर आप ही फसल को पहुंचे नुकसान का आकलन नुकसान निर्धारितकरता करेगा।
  • यह सारी प्रक्रिया सफलतापूर्वक हो जाने पर 15 दिन के अंदर अंदर बीमा की राशि आपके खाते में पहुंचा दी जाएगी।

टेंडर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Documents के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको टेंडर के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने टेंडर की सूची खुलकर आ जाएगी।
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार टेंडर की सूची के सामने दी गई डाउनलोड की लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।
  • टेंडर आपकी डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा।

गाइडलाइन डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको Documents के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको गाइडलाइंस के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने गाइडलाइंस की पूरी सूची खुलकर आ जाएगी।
  • आपको अपनी आवश्यकता अनुसार गाइड लाइन के सामने दी गई डाउनलोड की लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार गाइडलाइंस आपकी डिवाइस में डाउनलोड हो जाएंगी।

PMFBY पोर्टल डाटा डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने डैशबोर्ड खुलकर आ जाएगा।

बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने की प्रक्रिया

  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने बैंक ब्रांच डायरेक्टरी खुलकर आ जाएगी।
  • आपको सर्च बॉक्स में बैंक नेम दर्ज करना होगा।
  • संबंधित बैंक की जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

सीएससी लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको सीएससी के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको सीएससी लॉगइन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा जिसमें आपको अपना यूजरनेम तथा पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको साइन इन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप सीएससी लॉगइन कर पाएंगे।

सीएससी लोकेट करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको सीएससी के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको सीएससी लोकेटर के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने नया पेज खुल कर आएगा।
  • यदि आप आईफोन यूजर हैं तो आपको ऐप स्टोर के बटन पर क्लिक करना होगा और यदि आप एंड्रॉयड यूजर है
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सीएससी लोकेटर आपके डिवाइस में इंस्टॉल हो जाएगा।
  • इंस्टॉल होने के बाद आप इस ऐप के माध्यम से नजदीकी सीएससी केंद्र लोकेट कर सकते हैं।

कवरेज डाटा देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डैशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको कवरेज डाटा के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप कवरेज डाटा देख सकते हैं।

क्रॉप लॉस रिपोर्ट करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको रिपोर्ट क्रॉप लॉस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको डाउनलोड ऐप टू रिपोर्ट क्रॉप लॉस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको इंस्टॉल के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब ऐप आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा।
  • इसके पश्चात आप इस ऐप को खोल कर क्रॉप लॉस रिपोर्ट कर सकते हैं।

सर्कुलर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको सर्कुलर के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
सर्कुलर डाउनलोड
  • जैसे ही आप सर्कुलर के विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपनी आवश्यकतानुसार सर्कुलर पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने पीडीएफ फॉर्मेट में सर्कुलर खुलकर आ जाएगा।
  • इसके पश्चात आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप सर्कुलर डाउनलोड कर पाएंगे।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राज्यवार लाभार्थी सूची

राज्य/केंद्र शासित प्रदेशडायरेक्ट लिंक
अंडमान एंड निकोबार आइलैंडयहां क्लिक करें
असमयहां क्लिक करें
छत्तीसगढ़यहां क्लिक करें
गोवायहां क्लिक करें
हरियाणायहां क्लिक करें
हिमाचल प्रदेशयहां क्लिक करें
जम्मू एंड कश्मीरयहां क्लिक करें
केरलायहां क्लिक करें
मध्य प्रदेशयहां क्लिक करें
महाराष्ट्रयहां क्लिक करें
मणिपुरयहां क्लिक करें
उड़ीसायहां क्लिक करें
पुडुचेरीयहां क्लिक करें
राजस्थानयहां क्लिक करें
सिक्किमयहां क्लिक करें
तमिल नाडुयहां क्लिक करें
त्रिपुरायहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेशयहां क्लिक करें
उत्तराखंडयहां क्लिक करें

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्टरी

इंश्योरेंस कंपनी का नामइंश्योरेंस कंपनी का कोडटोल फ्री नंबरहेड क्वार्टर इमेजहेड क्वार्टर ऐड्रेस
AGRICULTURE INSURANCE COMPANY10011800116515[email protected]Office Block-1, 5th Floor, Plate-B & C, East Kidwai Nagar, Ring Road, New Delhi-110023
BAJAJ ALLIANZ GENERAL INSURANCE CO. LTD100418002095959[email protected]Bajaj Allianz House, Airport Road, Yerawada, Pune 411 006
BHARTI AXA GENERAL INSURANCE COMPANY LTD.101918001037712[email protected]7th floor, Merchantile House, K.G.Marg, New Delhi – 110 001
CHOLAMANDALAM MS GENERAL INSURANCE COMPANY LIMITED100218002005544[email protected]2nd Floor, “Dare House”, No.2, NSC Bose Road,Chennai – 600001, India. Phone: 044-3044 5400
FUTURE GENERALI INDIA INSURANCE CO. LTD.100518002664141[email protected]Indiabulls Finance Centre, 6th Floor, Tower 3, Senapati Bapat Marg, Elphinstone West, Mumbai, Maharashtra 400013
HDFC ERGO GENERAL INSURANCE CO. LTD.100618002660700[email protected]D-301, 3rd Floor, Eastern Business District (Magnet Mall), LBS Marg, Bhandup (West). MUMBAI – 400078 State : Maharastra , City : MUMBAI, Pin Code : 400078
ICICI LOMBARD GENERAL INSURANCE CO. LTD100918002669725[email protected]ICICI Lombard House414, P.Balu Marg,Off Veer Sawarkar Marg,near Siddhivinayak Temple, Prabhadevi,Mumbai-400025
IFFCO TOKIO GENERAL INSURANCE CO. LTD100718001035490[email protected]IFFCO Tower ,Plot No. 3 , Sector 29 , Gurgaon -122001,Haryana(India)
NATIONAL INSURANCE COMPANY LIMITED101618003450330[email protected]National Insurance Co. Ltd.3 , Middleton Street , Kolkata -700071,West Bengal
NEW INDIA ASSURANCE COMPANY101418002091415[email protected]87, MG Road, Fort, Mumbai – 400001
ORIENTAL INSURANCE10151800118485[email protected]The Oriental Insurance Company Ltd.Crop Cell, Head Office, New Delhi
RELIANCE GENERAL INSURANCE CO. LTD10031800 102 4088[email protected]Reliance General Insurance Company Limited, 6th Floor, Oberoi Commerz, International Business Park, Oberoi Garden City, Off. Western Express Highway, Goregaon (E), Mumbai- 400063.
ROYAL SUNDARAM GENERAL INSURANCE CO. LIMITED101818005689999[email protected]Vishranthi Melaram Towers, No. 2/319, Rajiv Gandhi Salai (OMR), Karapakkam, Chennai – 600097
SBI GENERAL INSURANCE10121800 22 1111 1800 102 1111[email protected]9th Floor, A&B wing, Fulcrum Building, Sahar Road, Andheri East, Mumbai -400099
SHRIRAM GENERAL INSURANCE CO. LTD1017180030030000/18001033009[email protected]E-8, Epip, Riico Industrial area, sitapura Jaipur (Rajasthan) 302022
TATA AIG GENERAL INSURANCE CO. LTD101018002093536[email protected]Peninsula Business Park, Tower-A, 15th Floor, Ganpat Rao Kadam Marg, Lower Parel, Mumbai, Maharashtra-400013,India.
UNITED INDIA INSURANCE CO1013180042533333[email protected]Customer care department, no.24, whites road, Chennai-600014
UNIVERSAL SOMPO GENERAL INSURANCE COMPANY100818002005142[email protected]103, First Floor, Ackruti Star, MIDC Central Road, Andheri (East) , Mumbai-400093

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आने वाली बीमा कंपनियों के टोल फ्री नंबर

इन्शुरेंस कंपनी का नामटोल फ्री नंबर
एग्रिकल्चर इन्शुरेंस कंपनी1800 116 515
बजाज आलियंज इन्शुरेंस कंपनी1800 209 5959
भारती एक्सा जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 103 7712
चोलामंडलम MS जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 5544
फ्युचर जनराली इंडिया इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 4141
एचडीएफ़सी एर्गों जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 0700
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 9725
इफको टोकियो जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 103 5490
नेशनल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 7710
न्यू इंडिया एशुरेंस कंपनी1800 209 1415
ओरिएंटल इन्शुरेंस1800 118 485
रिलायंस जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 102 4088 / 1800 300 24088
रॉयल सुंदरम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 568 9999
एसबीआई जनरल इन्शुरेंस1800 123 2310
श्रीराम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 3000 0000 / 1800 103 3009
टाटा एआईजी जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 209 3536
यूनाइटेड इंडिया इन्शुरेंस कंपनी1800 4253 3333
यूनिवर्सल जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 200 5142

प्रधानमंत्री हेल्पलाइन नंबर

इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है अगर किसी किसान को इस योजना के जुडी कोई परेशानी है है तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी परेशानी का निवारण प्राप्त कर सकते है और इस योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकता है ।
योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए फ़ोन नंबर – 01123382012
हेल्पलाइन नंबर – 01123381092

Important Download

 

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here